चेक पोस्ट पर रोके गए थे 70 प्रवासी, 28 लोगों की रिपोर्ट आने के बाद प्रशासन ने किया ये काम

सतगुरु इंटर कालेज मे क्वारंटाइन सेंटर में इन लोगों को ठहराया गया था।

By: Arvind Kumar Verma

Updated: 23 May 2020, 04:44 PM IST

कानपुर देहात-इस समय बाहर से आने वाले प्रवासी कानपुर देहात जिला प्रशासन के लिए बडी चुनौती बने हुए हैं। बीते एक माह में बाहर से आने वाले प्रवासियों के चलते जिले में 8 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या दर्ज हो चुकी है। इसलिए शासन के निर्देश पर अब बाहर से आने वाले लोगों को प्रशासन द्वारा जांच कर उन्हे कोरंटाइन किया जा रहा है। तत्पश्चात रिपोर्ट आने के बाद उन्हें वापस घर रवाना किया जा रहा है। इसी तरह जिले के सिकंदरा कस्बा के क्वारंटाइन सेंटर पर दूसरे प्रांतों से आने वाले लोगों को रोका जा रहा है। प्रशासन द्वारा चार दिन पूर्व रोके गए बिहार के लोगों को परीक्षण के बाद बीते दिन एक बस से रवाना किया गया। बताया गया कि ठहरे अन्य 42 लोगों को जांच रिपोर्ट आने के बाद उन्हें भी भेजा जाएगा।

सिकंदरा तहसील के उपजिलाधिकारी आरसी यादव ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार बाहर से आने वाले लोगों पर पैनी नजर रखी जा रही है। सिकंदरा क्षेत्र से गुजरने वाले कानपुर-इटावा हाईवे पर थाना अमराहट के ग्राम महटौली, जो कि जिले की सीमा पर है, वहां के चेक पोस्ट से गुजरते समय दूसरे प्रांत के 70 प्रवासियों को चार दिन पूर्व रोका गया था। साथ ही सतगुरु इंटर कालेज मे क्वारंटाइन सेंटर में इन लोगों को ठहराया गया था।

स्वास्थ्य की जांच के बाद रिपोर्ट सामान्य मिलने पर बीते दिन 28 लोगों को एक बस से कानपुर के गोविंद नगर रेलवे स्टेशन भेजा गया है। वहां से इन्हें ट्रेन के माध्यम से बिहार के अलग अलग जनपदों के लिए रवाना किया जाएगा। शेष 42 लोगों की जांच रिपोर्ट आने के बाद उन्हें भी भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि यहीं के दूसरे सेंटर छत्रपति शिवाजी महाविद्यालय में बाहर से आने वाले रोके गए लोगों में आसपास के क्षेत्रीय 124 यात्रियों में 54 को सरकारी वाहन व्यवस्था से जांच के बाद घर भेजा गया है। शेष बचे 70 लोगों की रिपोर्ट आने तक यहीं ठहरे हैं।

COVID-19
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned