सरकारी दफ्तरों में संक्रमण रोकने के लिए किया जाएगा यह इंतजाम

पूरा शरीर सेनेटाइज होने बाद दफ्तर में दाखिल होंगे कर्मचारी
बिना नुकसान वाले आइसोप्रोपाइल अल्कोहल का होगा प्रयोग

कानपुर। सरकारी दफ्तरों में काम करने वाले कर्मचारियों को संक्रमण से बचाने के लिए अब सेनेटाइजर टनल लगाए जाएंगे। इसमें प्रवेश करते ही व्यक्ति सिर से लेकर पांव तक सेनेटाइज हो जाएगा। जिससे दफ्तर में संक्रमण का खतरा दूर हो जाएगा। इसके लिए खास आइसो प्रोपाइल अल्कोहल का इस्तेमाल किया जाएगा। यह अल्कोहल नुकसानदायक नहीं होता है और इसका प्रयोग हैंड सेनेटाइजर में भी किया जाता है।

हर कर्मचारी होगा सेनेटाइज
लॉकडाउन के बीच जरूरी सेवाओं को संचालित करने के लिए कई सरकारी विभागों में काम चल रहा है। बैंक, डाकघर, बिजली विभाग, संचार विभाग, सूचना एवं तकनीक सहित कई विभागों में कर्मचारियों को आना पड़ रहा है। जल्द ही कई और सरकारी विभागों में काम शुरू कराए जाने की योजना है। ऐसे में उनकी संक्रमण से सुरक्षा बेहद जरूरी है। इसे देखते हुए अब हर दफ्तर के गेट पर सेनेटाइजर टनल लगाए जाने की तैयारी है। दफ्तर में प्रवेश करने पहले कर्मचारी को इस टलन के अंदर से गुजरना होगा और टनल में जाते ही वह सिर से लेकर पैर तक सेनेटाइज हो जाएगा।

इस अल्कोहल का होगा प्रयोग
कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए दो तरह के अल्कोहल का प्रयोग किया जा रहा है। पहला है सोडियम हाइप्रो क्लोराइड और दूसरा है आइसो प्रोपाइल अल्कोहल। सोडियम हाइप्रो क्लोराइड से संक्रमित इलाकों की दीवारों, सडक़ों और अन्य चीजों को सेनेटाइज किया जाता है, जबकि लोगों को सेनेटाइज करने के लिए खास आइसो प्रोपाइल अल्कोहल का प्रयोग होता है। दफ्तरों पर लगने वाले टनल में भी इसी अल्कोहल से पूरा शरीर सेनेटाइज किया जाएगा।

नहीं होता कोई नुकसान
नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. अमित सिंह गौर ने बताया कि टनल में सिर्फ आइसो प्रोपाइल अल्कोहल का इस्तेमाल ही उचित है जो हैंड रब के काम भी आता है। इससे जब हाथों को भी सेनेटाइज करते हैं तो हाथ मलते ही उड़ जाता है। हाथ सेनेटाइज हो जाता है और नुकसान भी नहीं होता। इसे रबिंग अल्कोहल के नाम से भी जाना जाता है।

हैलट में लगाया गया है टनल
हैलट अस्पताल में कोरोना आइसोलेशन वार्ड के सामने जो सेनेटाइजर टनल लगा है वह भी आइसो प्रोपाइल सेनेटाइजर से ही तैयार किया गया है। इसी तरह के टनल बनाने उचित हैं। इसमें जैसे ही कोई शख्स भीतर जाता है सेंसर के जरिए सेनेचाइजर चालू हो जाता है और सिर से पैर तक लोग सेनेटाइज हो जाते हैं। अब इसी तरह के टनल बनाने की तैयारी है क्योंकि दफ्तरों में कामकाज जब शुरू होगा तो इसकी जरूरत पड़ेगी।

Corona virus
आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned