13 शहीदों की शहादत के बाद से ये गांव था गुमनाम, अब रोशनी की किरण फूटी तो हुआ

आज़ादी के 72 वर्षों बाद शहीदों के गांव सबलपुर में आज एक बल्ब जला तो गांव में खुशी की लहर दौड़ गयी।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 19 Jan 2019, 11:26 AM IST

कानपुर देहात-देश को आज़ाद हुए 72 वर्ष गुजर गए लेकिन इस आज़ादी में अहम भूमिका निभाने वाले वीर शहीदों के गांव सबलपुर अंधकार में जी रहा था। इतने वर्षों बाद सबलपुर गांव में आज एक बल्ब जला तो गांव में खुशी की लहर दौड़ गयी। ग्रामीणों ने एक दूसरे का मिठाई से मुंह मीठा कराया। हालांकि अभी बल्ब ट्रांसफार्मर के पास ही जला है। आज सहकारिता मंत्री के कार्यक्रम के बाद बिजली विभाग के अफसर पूरी मुस्तैदी में जुटे हैं। अब पूरे गांव को रोशनी से जगमग करने में कर्मी एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं। इस समस्या को लेकर पत्रिका ने शहीदों के इस गांव की खबर बीते कुछ माह पहले प्रकाशित की थी, जिसमें गांव की इस प्रमुख समस्या से शासन प्रशासन को अवगत कराया था।

 

1857 के संग्राम में अंग्रेजों से मोर्चा लेने वाले वीर सपूतों में मंगलपुर क्षेत्र का सबलपुर गाँव आज भी लोगों की जुबान पर है। पत्रिका ने जब इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया तो बीते दो वर्ष पूर्व बिजली की रोशनी के लिए गांव में खंभे तो गाड़े गए लेकिन रोशनी की किरण नहीं फूटी थी। फिर भी गांव में खंभे तो गाड़े गए लेकिन ट्रांसफार्मर नहीं रखा गया था, इससे गांव अंधेरे में डूबा रहा था। जब विभाग को पता लगा कि गांव में सहकारिता मंत्री का आगमन हो रहा है तो इसके लेकर विभाग गंभीर हुआ। सक्रिय हुये विभाग ने उनके आने के पहले बिजली के बल्ब की रोशनी की।

 

जब देर शाम बिजली का बल्ब गांव में जला तो ग्रामीणों में खुशी की लहर दौड़ गयी। फिलहाल विभागीय अफसरों में एक्सईएन अभिषेक सिंह, एसडीओ अमित सक्सेना व जेई सचिन यादव पूरे गांव को रोशन करने की कवायद में लगे हुए हैं। ग्रामीणों के अनुसार इस गांव ने 13 वीर सपूत आज़ादी की जंग में कुर्बान किये हैं। देश आजाद भी हुआ लेकिन इतने वर्ष बीतने के बाद भी यह गांव शासन प्रशासन की नजरों से ओझल रहा। आज गांव में एक बल्ब जलने पर लोगों को विकास की राह दिखने लगी है। फिलहाल ग्रामीण एक दूसरे को बधाई दे रहे हैं।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned