डकैती के बाद एडीजी रेलवे ने जीआरपी इंस्पेक्टर्स को किया अलर्ट

डकैती के बाद एडीजी रेलवे ने जीआरपी इंस्पेक्टर्स को किया अलर्ट

Alok Pandey | Publish: Sep, 07 2018 01:40:02 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

मानिकपुर पनहाई स्टेशन के पास तीन दिन पहले गंगा कावेरी एक्सप्रेस में डकैती पडऩे के बाद रेलवे पुलिस की सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो गया है. इसको देखते हुए एडीजी रेलवे ने यात्री सुरक्षा के कई नए आदेश भी जारी किए है.

कानपुर। मानिकपुर पनहाई स्टेशन के पास तीन दिन पहले गंगा कावेरी एक्सप्रेस में डकैती पडऩे के बाद रेलवे पुलिस की सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो गया है. इसको देखते हुए एडीजी रेलवे ने यात्री सुरक्षा के कई नए आदेश भी जारी किए है. इसके तहत अब यूपी में रात 10 बजे के बाद जीआरपी किसी भी स्टेशन पर ट्रेन में औचक चेकिंग कर सकती है. साथ ही किसी यात्री पर संदेह होने पर उनसे पूछताछ भी कर सकती है.

नाकाम साबित हो रही जीआरपी
ट्रेनों में बढ़ते अपराध को रोकने में जीआरपी नाकाम साबित हो रही है. इसका ताजा उदाहरण मानिकपुर में ट्रेन में पड़ी डकैती है. ट्रेनों में सफर के दौरान चोरी, लूट, डकैती, जहरखुरानी की आए दिन हो रही दुर्घटनाएं सामने आने पर रेल यात्री ट्रेन में सफर के दौरान अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे है. ट्रेन में होने वाले कई अपराधों का खुलासा सालों बाद भी नहीं हुआ है.

अभी तक नहीं हो सका खुलासा
दिल्ली में कार्यरत एक क्राइम ब्रांच के अधिकारी का सामान समेत लाखों की ज्वैलरी सफर के दौरान कानपुर क्षेत्र में चोरी हो गया था. घटना को एक माह से ऊपर हो गया, लेकिन जीआरपी के हाथ अभी भी खाली है.

आदेशों की उड़ती हैं धज्‍जियां
रेलवे राजकीय पुलिस अधिकारियों के मुताबिक एडीजी वीके मौर्य के आदेशानुसार रात को सभी जीआरपी इंस्पेक्टरों को अपने मंडल के एसपी को अपनी लोकेशन मोबाइल से भेजनी होगी. ऐसा इसलिए किया गया है कि रात में कुछ इंस्पेक्टर अपने आवास में आराम फरमाते है. लिहाजा उनके नीचे पोस्ट के अधिकारी व कर्मचारी भी रात में एक्टिव नहीं रहते है. जो कि अपराधियों का काम आसान कर देता है.

ऐसा कहते हैं अधिकारी
यूपी रेलवे एडीजी वीके मौर्य कहते हैं कि ट्रेनों में सफर करने वाले यात्रियों की सुरक्षा को लगातार जीआरपी को अपडेट किया जा रहा है. पेंडिंग पड़े घटनाओं का खुलासा जल्द करने का आदेश दिया है.

Ad Block is Banned