छुट्टा पशुओं से त्रस्त किसानों में उबाल, स्कूलों के बाद अब यहां किया कैद

तमाम किसान हाथों में लाठी डंडा लेकर मवेशियों को खदेड़ते हुए मंगोलपुर स्थित मिनी स्टेडियम पहुंच गए। यहां मौके पर एक गार्ड था, जो भाग गया।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 07 Jan 2019, 03:35 PM IST

कानपुर देहात-किसानों की फसलों को चौपट कर रहे छुट्टा मवेशियों को खदेड़कर स्कूल में बंद करने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होने की बात सामने पर किसानों ने अब उन्हें खाली पड़े भवनों या घेरेबन्दी मैदान में बंद करना शुरू कर दिया है। ऐसा ही कुछ मंगोलपुर गांव में देखने को मिला, जहां ग्रामीणों ने इन आवारा मवेशियों को स्टेडियम में बंद कर दिया है। दरअसल ग्रामीणों ने अन्ना मवेशियों को खेतों से खदेड़कर मंगोलपुर के स्टेडियम में बंद कर दिया। वहीं सिकंदरा क्षेत्र के हाजिरपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय में भी किसानों ने सैकड़ों मवेशी बंद कर दिए।

 

अकबरपुर कोतवाली क्षेत्र के तमाम किसान हाथों में लाठी डंडा लेकर मवेशियों को खदेड़ते हुए मंगोलपुर स्थित मिनी स्टेडियम पहुंच गए। यहां मौके पर एक गार्ड था। जब उसने मवेशियों के झुंड के साथ आ रही किसानों की भीड़ देखी तो हांथो में लाठी डंडे देखकर गार्ड भाग गया। ग्रामीणों ने यहां 200 मवेशियों को बंद किया। वहीं जानवरों के चारे के लिए पुआल की व्यवस्था की गई। साथ ही पानी के लिए मैदान में ही गड्ढे खोद दिए गए। पीसीसी सदस्य अमरसिंह पाल ने बताया कि वह आज जिलाधिकारी से मिलकर इस समस्या को दूर किए जाने की मांग करेंगे।

 

इसी तरह सिकंदरा के हाजिरपुर गांव में किसानों ने एक सैकड़ा मवेशियों को गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में बंद कर बाहर से ताला मार दिया। गांव के लोगों ने बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होने का हवाला दिया लेकिन किसान अपनी फसल बर्बाद होने की बात कहने लगे। सूचना पर तहसीलदार सिकंदरा संजय कुशवाहा मौके पर पहुंचे और विद्यालय में बंद मवेशियों के लिए चारा-पानी की व्यवस्था कराई। उन्होंने मंगलवार तक सभी मवेशियों को संरक्षित किए जाने का भरोसा दिया। बताया कि बुधेड़ा डेरा गांव में अस्थाई गौशाला में इन्हें रखा जाएगा।

राकेश कुमार सिंह जिलाधिकारी कानपुर देहात ने बताया कि जानवरों को रखने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है, इसमें ग्राम समितियों का भी सहारा लिया जा रहा है।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned