कानपुर देहात की हिंसा पर अलय कुमार लल्लू का दावा, भाजपा के इशारे पर हमलावरों ने दलितों को पीटा

गजनेर के मंगटा गांव में दो समुदायों के बीच हुर्द थी झड़प, कई लोग घायल, कानपुर के जिला अस्पताल में चल रहा इलाज, कांग्रेस का प्रतिनिधित्व मंडल पीड़ितों से मिला।

कानपुर। कानपुर देहात में दो वर्गों के बीच जमकर संघर्ष हुआ था और आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गए थे, जिनमेें महिलाएं और बच्चे भी थे। पुलिस सभी को लेकर कानपुर जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। शनिवार को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और पीएल पुनिया के नेतृत्व में एक प्रतिनिधित्व मंडल पीड़ितों से मिलने के लिए पहुंचा। घायल महिलाओं के साथ पांच बच्चे आदर्श से मिले और उनसे बातचीत की फिर मीडिया से बातचीत के दौरान प्रदेश सरकार पर जमकर बरसे। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाते हुए कहा कि एक विशेष समुदाय के लोगों को भाजपा नेताओं के संरक्षण में पीटा गया। हमलावरों ने जिस तरह महिलाओ और बच्चो को घेरकर मारा है उससे पता चलता है की इस योगी के राज में दलित और महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। कांग्रेस इन्हें न्यास दिलाने के लिए सडक से लेकर संसद तक पर आंदोलन करेगी।

बच्चे का तोड़ दिया हाथ
अजय कुमार लल्लू ने बताया कि हमें पीड़ितों ने बताया कि आरोपियों ने घर पर घुसकर बेरहमी से पीटा। बच्चों को उठाकर घर से फेंका गया। जिससे पांच साल के बच्चे आदर्श का हाथ टूट गया। कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाते हुए कहा कि आरोपियों के सिर पर एक भाजपा के कद्दावर नेता का हाथ हैं और उसी के इशारे पर हमलावरों ने घटना को अंजाम दिया। लल्लू ने बताया कि महिलाओं को बुरी तरह से लाठी-डंडो से पीटने के बाद घर के बाहर घसीटा गया। योगी के राज में कोई सुाक्षित नहीं हैं। कांग्रेस दलित, पिछड़े, गरीब और महिलाओं की लड़ाई सड़क पर लड़ेगी।

कानून-व्यवस्था बेपटरी
राज्यसभा मेंबर पीएल पुनिया ने घटना पर दुख प्रकट करते कहा कि उन्नाव, फतेहपुर सहित सूबे के सभी जिलों में कानून-व्यवस्था बेपटरी है। यहां पर अपराधियों को बोलबाला है। ये अपराधी भाजपा नेताओं के संरक्षण में गरीबों पर जुल्म ढा रहे हैं। कांग्रेस पार्टी जनविरोधी सरकार के खिलाफ लड़ेगी। राज्यसभा सांसद ने सीएए को लेकर चल रहे धरने पर कहा कि पार्टी इस कानून के खिलाफ है। सरकार से हम पहले ही सीएए को वापस किए जाने की मांग कर चुके हैं।

इस वजह से हुआ था बवाल
बतादें गजनेर थाना क्षेत्र मंगटा गांव किनारे गौतम बुद्ध पार्क में 8 फरवरी को कथा पूजन कराया गया था। गुरुवार को भीम शोभा यात्रा निकाली जानी थी। तय समय पर सुबह लोग शोभा यात्रा निकाल रहे थे। इस बीच अनुसूचित जाति व क्षत्रिय बिरादरी के लोगों में विवाद हो शुरू हो गया। दोनों ओर से पथराव व मारपीट होने से अफरातफरी मच गई और छह से अधिक लोग जख्मी हो गए। एसपी, एएसपी, एडीएम प्रशासन, एसडीएम सदर गांव पहुंच गए और घायलों को अस्पताल भिजवाया। घटना के बाद से गांव में तवानपूर्ण महौल है।

Bharatiya Janata Party
Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned