2019 की रणभेदी का कानपुर से आगाज, त्रिदेव से निपटने का ब्लूप्रिंट हो रहा तैयार

लोकसभा चुनाव में जीत का मंत्र देने के लिए निराला नगर में बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन का आयोजन, पहले पहुंचे सीएम सहित अन्य मंत्री, अमित शाह का हेलीकाप्टर भी किया लैंड।

By: Vinod Nigam

Published: 30 Jan 2019, 01:47 PM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। कहते हैं कि जिसने भी मजदूरों के शहर का दिल जीता, दिल्ली में उसी दल की सरकार बनना निश्चित है। मैनचेस्टर ऑफ ईस्ट ने इंदिरा गांधी से लेकर नरेंद्र मोदी को अपना नेता चुना और वो प्रधानमंत्री की कुर्सी पर विराजमान हुए। 2019 के लोकसभा चुनाव का आगाज भी इसी शहर से भाजपा ने कर दिया है। साउथ के निराला नगर इलाके में स्थित रेलवे ग्राउंड पर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पहुंच चुके हैं तो सीएम योगी आदित्यनाथ अपने मंत्रियों के अलावा प्रदेश संगठन के साथ मंच साझा कर रहे हैं। वहीं कानपुर-बुंदेलखंड के 17 जिलों से करीब 22 हजार बूथ प्रमुख, 208 मंडल अध्यक्ष, 1887 सेक्टर प्रभारी व 35 विस्तारकों के साथ बैठक कर मायावती, अखिलेश और राहुल गांधी से निपटने का ब्लूप्रिंट तैयार कर रहे हैं।

तो पार्टी के लिए कानपुर ’लकी’ हो गया

2014 लोकसभा और फिर 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कानपुर में बूथ जीता, चुनाव जीता का मंत्र देकर जीत हासिल की थी। बंपर जीत मिली तो पार्टी के लिए कानपुर ’लकी’ हो गया। अब इसी धरती से लोकसभा चुनाव में जीत के लिए पहले बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह संबोधित करने के लिए कानपुर पहुंच चुके हैं। रेलवे मैदान में आयोजित सम्मेलन के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंच पर पहले पहुंचे और उन्हें देख बूथ प्रमुखों ने जयश्रीराम के नारे लगाने से शुरू कर दिए। सीएम ने भी हाथ हिलाकर सभी का अभिनंदन स्वीकार किया।

17 जिलों के पदाधिकारी मौजूद
क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह बूथ कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद करेंगे। उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डॉ. दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्रनाथ पांडेय, प्रदेश प्रभारी जेपी नड्डा और सह प्रभारी डॉ.नरोत्तम मिश्र भी मंच पर मौजूद हैं। मानवेंद्र िंसंह ने बताया कि सम्मेलन में कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के 17 जिलों के 22 हजार से अधिक बूथ प्रभारी देररात शहर आ गए थे। नगर अध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी ने बताया कि कार्यक्रम स्थल केंद्र सरकार की योजनाओं की झांकी दिखाई गई है। मंच के दाहिने ओर होर्डिंग पर योजनाएं प्रदर्शित की गई है ताकि कार्यकर्ता उनके बारे में जान सकें।

अन्य दलों से आगे निकली भाजपा
अपनी चुनावी रणनीति में भाजपा सबसे अधिक जोर सबसे छोटी इकाई बूथ पर ही दे रही है। कई बार सत्यापन हो चुका है। सभी बूथों पर कमेटियां बनाई जा चुकी हैं। अब उन्हें चुनाव जीतने के लिए किस तरह से काम करना है, इसके बारे में भाजपा के राष्ट्रीय बताएंगे। नगर अध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी के मुताबिक लोकसभा चुनाव में पार्टी एक बूथ में सौ यूथ को नियुक्त किया है। साथ ही मतदान के एक दिन पहले रात में कार्यकर्ता मतदाताओं के घर के बाहर डेरा जमा लेंगे और सुबह 7 बजे उन्हें बूथों पर ले जाकर वोट डलवाएंगे। पार्टी 2019 में अपना वोट प्रतिशत 50 प्लस के एजेंडे पर काम कर रही है।

किलों पर भाजपा ने किया था कब्जा
कानपुर-बुंदेलखंड की लोकसभा से लेकर विधानसभा, जिला पंचायत और स्थानीय निकायों में भी सपा-बसपा की ही वर्चस्व रहा है, लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में चली मोदी और अमित शाह की आंधी ने दोनों दलों के लहराते परचमों को उखाड़ फेंका। मुलायम और मायावती के गढ़ में पूरी तरह से भाजपा का कब्जा हो गया। लोकसभा की 10 में से 9 तो विधानसभा की 52 में 47 सीटों पर कमल खिला। पर समाजवादी पार्टी और बसपा के गठबंधन के बाद भाजपा इन किलों पर कब्जा बरकरार करने के लिए बुधवार को निरालानगर स्थित रेलवे ग्राउंड में बूथ सम्मेलन का आगाज आज अमित शाह की मौजूदगी में शुरू हो गया।

चकेरी में अमित शाह ने किया भोजन
कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित सभी अतिथि चकेरी हवाई अड्डे पर भोजन किया। क्षेत्रीय उपाध्यक्ष आनंद राजपाल ने बताया कि मेन्यू में ढोकला, ब्लैक कॉफी, मूंग की दाल की खिचड़ी दही के साथ, शक्कर चूड़ा, अरहर दाल, गुजराती कढ़ी, लौकी, भिंडी, वेजीटेबल कोफ्ता, चावल, सलाद, रायता, पापड़, रोटी, अचार, रसमलाई और छाछ को रखा गया है। सीएम योगी आदित्यनाथ सहित सभी पदाधिकारियों ने यहीं पर भोजन करने के उपरान्त ग्राउंड की तरफ निकले हैं। बताया, बाहर से आए बूथ प्रमुखों के अलावा अन्य कार्यकर्ताओं के लिए भी भोजन की व्यवथा की गई है।

Amit Shah BJP President Amit Shah
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned