केए दुबे पद्मेश ने कोरोना पर फतह का दिया मंत्र, होलिका दहन से पहले ये समाग्री करें अर्पित

शाम 5 बजकर 35 मिनट से रात 11 बजकर 05 तक होलिका दहन का शुभ मुहूर्त, कारोना से बचने के लिए करें ये उपाए।

By: Vinod Nigam

Published: 09 Mar 2020, 07:11 PM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। होलिका दहन से चंद घंटे पत्रिका डाॅट काॅन ने देश के जानें-मानें ज्यातिषाचार्य व भारतीय ज्योतिष परिषद के अध्यक्ष पंडित केए दुबे पद्मेश से बात की। जिस पर उन्होंने बताया कि होलिका दहन का शुभ मुहूर्त शाम 6 बजकर 35 से रात 11 बजकर 05 तक का है। कोरोना वायरस के प्रकोप से बचने के लिए भक्तों को होलिका की विधि-विधान से पूजा करें। फिर सात लौंग-सात कपूर के साथ सात बार परिक्रमा करने के उपरान्त होलिका दहन करना होगा। ये कार्य करने के बाद इस संक्रमण के साथ अन्य बीमारियां आमलोग के पास भटक नहीं पाएंगी।

11 बजकर 05 मिनट तक शुभ मुहूर्त
भारतीय ज्योतिष परिषद के अध्यक्ष पंडित केए दुबे पद्मेश ने बताया कि 9 मार्च की दोपहर के बाद भद्रा का दोष समाप्त हो गया है। इसलिए सूर्यअस्त्र के बाद किसी भी वक्त होलिका का दहन कर सकते हैं। पंडित केए दुबे पद्मेश ने बताया कि 11 बजकर 5 मिनट तक होलिका दहन का शुभ मुहूर्त है। होलिका दहन करने से पहले होली की पूजा की जाती है। इस पूजा को करते समय पूजा करने वाले व्यक्ति को होलिका के पास जाकर पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुख करके बैठना चाहिए। पूजा करने के लिए एक लोटा जल, माला, रोली, चावल, गंध, पुष्प, कच्चा सूत, गुड़, साबुत हल्दी, मूंग, बताशे, गुलाल, नारियल आदि का प्रयोग करना चाहिए। इसके अतिरिक्त नई फसल के धान्यों जैसे पके चने की बालियां व गेहूं की बालियां भी सामग्री के रूप में रखी जाती हैं।

कोरोना से बचने के बताए उपाए
केए दुबे पद्मेश ने कहा कि देश में इन दिनों कोरोना वायरस को लेकर हायतौबा मची हुई है। लोग अपनी पुरानी परम्पराओं को भूलते जा रहे हैं और इसी का असर है कि कोरोना जैसी बीमारियों की चपेट में आमलोग आ रहे हैं। केए दुबे पद्मेश कहते हैं कि हमनें सुना है कि कोरोना के डर से राजनेता व अन्य लोग होली नहीं खेलेंगे। उन्हें कोरोना का डर सता रहा है। केए दुबे पद्मेश ने बताया कि वैदिद मंत्रों के साथ होली की पूजा करें। गेहूं और चने की बाली के साथ गन्ना और पीला सरसों का तेल, पीली सरसों पीला चनें की आटा होलिका में चढ़ाएं। ये करने से भक्तगढ निरोग और कोरोना से बचे रहेंगे।

कुछ इस तरह रंग में बदलेगी राशियों की चाल
1-मेष (आपको होलिका में काला तिल डालना चाहिए और अपने स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए प्रार्थना करनी चाहिए)
2-वृष ( आपको होलिका में मक्के का लावा डालना चाहिए और अपने दाम्पत्य जीवन को बेहतर करने के लिए प्रार्थना करनी चाहिए )
3-मिथुन ( आपको होलिका में गुड़ डालना चाहिए और अपनी नौकरी में आ रही मुश्किलों को दूर करने की प्रार्थना करनी चाहिए)
4-कर्क (आपको होलिका में अनाज की बालियां डालनी चाहिए और अपने मन की समस्याओं को दूर करने की प्रार्थना करनी चाहिए)
5- सिंह (आपको होलिका में चन्दन की लकड़ी डालनी चाहिए और अपनी नौकरी में व स्वास्थ्य में सुधार की प्रार्थना करनी चाहिए) 6-कन्या (आपको होलिका में काले तिल और गुड़ डालने चाहिए और अपनी रक्षा के लिए प्रार्थना करनी चाहिए)
7-तुला (आपको होलिका में पीली सरसों डालनी चाहिए और अपने चंचल मन को बेहतर करने की प्रार्थना करें)
8-वृश्चिक (आपको होलिका में धान अर्पित करना चाहिए और अपनी समस्याओं को दूर करने की प्रार्थना करनी चाहिए)
.9-धनु (आपको होलिका में मक्के के लावे डालने चाहिए और अपने परिवार के सुख और शांति की प्रार्थना करें)
10-मकर ( आपको होलिका में घी अर्पित करना शुभ होगा और अपने अच्छे स्वास्थ्य और सुरक्षा की प्रार्थना करें)
कुंभ (आपको होलिका में कपूर अर्पित करना शुभ होगा और अपनी अच्छी आर्थिक स्थिति के लिए प्रार्थना करें )
मीन (आपको होलिका में लकड़ी डालनी चाहिए और इसके बाद अपने संतान की उन्नति की व स्वयं के बेहतर स्वभाव की प्रार्थना करें)

Corona virus Corona Virus treatment
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned