सौ फीसदी वोटिंग के लिए चुनाव आयोग ने कमर कसी

शतप्रतिशत मतदान के लिए जन जागरुकता अभियान चलाने की जरूरत है, अभियान से युवाओं को जोड़ें रैलियां निकालें, वीवीआईपी के नाम भी जोड़े, ईवीएम देश की शाम।

By: Vinod Nigam

Published: 19 Jan 2019, 01:37 PM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। लोकसभा चुनाव को लेकर निर्चाचन आयोग ने अधिकारियों के साथ बैठक शुरू कर जमीप पर काम करना शुरू कर दिया है। शुक्रवार को यूपी के यूपी के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू कानपुर पहुंचे। वो यहां सीएसए में जिले के अलाधिकारियों के साथ बैठक की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस बार एक भी वोटर वोट डालने से वंचित नहीं रहना चाहिए। पात्र लोगों के नाम वोटरलिस्ट में जोड़ने और अपात्रों को चिन्हित कर उन्हें हटाए जाने के आदेश दिए। एल वेंकटेश्वर लू ने बताया कि 2019 में आयोग 100 फीसदी मतदान कराने के लिए कमर कस चुका है।

इनके नाम जरूर जोड़ें
सीएसए सभागार में समीक्षा बैठक कर मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल वेंकटेश्वर लू ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस बार चुनाव आयोग मतदाता को इन्फॉर्मेशन, मोटिवेट और सुविधा देगा, जिससे वो वोट डालने को लेकर जागरूक हो सकें। मतदाताओं का डेमोंस्ट्रेशन भी कराया जाएगा। साथ ही इस चुनाव से पहले बीएलओ, बीएलए को नामित करने की कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि वीवीआईपी लोगों की सूची तैयार कर उनके नाम मतदाता सूची में जोड़ें, जिससे की चुनाव आयोग की की बदनामी न हो पाए।

ईवीएम बेदाग
वेंकटेश्वर लू ने बताया कि इस बार मतदाता 1950 पर मैसेज भेजकर वोटर लिस्ट की जानकारी पा सकेंगे। चुनाव आयोग क्रेडिबल और एथिकल इलेक्शन पर जोर देगा। साथ ही डीएसी मिलान द्वारा एक ही नाम वाले एक से अधिक जगह पर मतदाता सूची में नाम वाले लोगों के नाम काटे जाएंगे। उन्होंने ईवीएम पर सवाल खड़े करने वाले राजनीतिक दलों को आईना दिखाते हुए कहा कि ईवीएम भारत के लिए शान की बात है और इस पर किसी को प्रश्नचिन्ह नहीं लगाना चाहिए। लू ने कहा कि ईवीएम और वीवीपैट बिलकुल सुरक्षित है। इसमें किसी तरह से शक की कोई गुंजाइश नहीं है। जब जांच हुई यह सुरक्षित निकली। 30 साल से ये लोकतंत्र की शान बनी हुई है।

शतप्रतिशत हो मतदान
एल वेंकटेश्वर लू ने कहा कि शतप्रतिशत मतदान के लिए जन जागरुकता अभियान चलाने की जरूरत है। अभियान से युवाओं को जोड़ें, रैलियां निकालें, विभिन्न प्रतियोगिताएं कराएं। शांतिपूर्ण मतदान के लिए दबंगों को पाबंद किया जाए। उन्होंने कहा कि मतदाता सूची में प्रत्येक पात्र व्यक्ति का नाम शामिल हो जाना चाहिए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदाता सूची में बदलाव नॉमिनेशन के आखिरी दिन तक कर सकते हैं। मतदाता बनने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन कभी भी कर सकते हैं। 31 जनवरी को मतदाता सूची के अंतिम प्रकाशन के बाद फॉर्म-6 भरने की प्रक्रिया फिर शुरू होगी।

साढ़े चौदह करोड़ पहुंची संख्या
उन्होंने कहा कि तीन माह से चल रहे मतदाता पुनरीक्षण अभियान के दौरान यूपी में 40 लाख वोटर्स की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। प्रदेश में इस वक्त मतदाताओं की संख्या 14 करोड़ 20 लाख से बढ़कर 14 करोड़ 50 लाख पहुंच चुकी है। उन्होंने बताया कि जनवरी में भी मतदाताओं की संख्या वोटर लिस्ट में दर्ज करवाने के लिए अभियान चलाया जाएगा। कहा, इनमें मतदान की जागरुकता के लिए रैली का आयोजन होगा। मोहल्लों में मतदाता कमेटी, चुनावी पाठशाला, सिविल डिफेंस की बैठक, एनसीसी, वोटर्स क्लब की मदद से लोगों में मतदान की जागरुकता फैलायी जाएगी।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned