एक्शन आए में एसएसपी, गुल्लू को लगी गोली

एसपी कहा कि घायल बदमाश की पहचान आफताभ उर्फ गोलू के रूप में हुई है, आरोपी पर दर्ज हैं आधा दर्जन से ज्यादा मुकदमे।

By: Vinod Nigam

Published: 15 Nov 2018, 11:25 AM IST

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। शहर को अपराध मुक्त करने के लिए एसएसपी अनंत देव तिवारी ने कमर कस ली है। पदभार ग्रहण करने के बाद उन्होंने पहले थानों की बागडोर तेज-तर्राक इंस्पेकटरों को सौंपी और फिर मुखबिर मंत्र को खड़ा कर अपराधियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू कर दिया है। पिछले पांच दिन के अंदर पांच इनकाउंटर में 5 बदमाश पुलिस की गोली से घायल हुए हैं। देररात 25 हजार के इनामी गैंगस्टर आफताब उर्फ गुल्लू को पुलिस ने मुठभेड़ के बाद दबोच लिया। इस पर आधा से ज्यादा मुकदमे चल रहे थे।

पिस्टल छीन का भागा बदमाश
मुखबिर की सूचना पर गणेशपुर मोड़ सनिगवां से एक तमन्चा और तीन कारतूस के साथ आफताब उर्फ गुल्लू नामक बदमाश को पुलिस ने दबोच लिया। बदमाश ने पेट में दर्द की बात पुलिस को बताई। पुलिस उसे अस्पताल लेकर निकली, इसी दौरान गुल्लू एक थानेदार कह पिस्टल छन ली और कार से कूदकर भागने लगा। पुलिस ने पीछा किया तो आरोपी ने फायरिंग कर दी। पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई में गोलू को गोली लग गई और वो जमीन पर गिर गया। बाद में घायल गैगस्टर को पुलिस अभिरक्षा में काशीराम संयुक्त चिकित्सालय एवं ट्रामा सेन्टर रामादेवी में भर्ती कराया गया। पुलिस रिकार्ड के मुताबिक गुल्लू पर आईपीसी, आर्म्स एक्ट और गैंगस्टर एक्ट के तहत छह मुकदमें कायम है और वो लम्बे अर्से से वांछित था।

नफीस के बाद गोली
एसएसपी के आदेश पर एक माह पहले अपराधियों के खिलाफ पुलिस न ऑपरेशन शुरू किया। पुलिस को पहली सफलता करीब 25 दिन पहले लगी। जब खड़खड़ गैंग के सरगना शादाब व उसके तीन साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इसी दौरान शादाब का शामिर शार्प शूटर नफीस पुलिसकर्मी की राइफल छीन कर चलती कार से कूद गया। आरोपी जंगल के अंदर प्रवेश कर गया। कई थानों की फोर्स के साथ पुलिस ने जंगल में उतरकर खोजी अभियान चलाया। इसी दौरान नफीस ने पुलिस पर फायर कर दिया। पुलिस ने भी गोली चलाई, जो उसके पैर में लग गई और वो गिर गया।

सिराज के बाद गुल्लू
एक सप्ताह पहले खड़खड़ गैंग के शूटर सिराज उर्फ गोली को पुलिस ने एक घर में घेर लिया। अपने को घिरा देख बदमाशा छत से छलांग लगा भाग गया। पुलिस ने उसका पीछा किया। इसी दौरान पुलिस ने उसे सरेंडर करने को कहा, पर उसने फायर कर दिया और पुलिस की जवाबी कार्रवाई में हो गया हो गया। दो दिन के बाद बेकमगंज के बदमाश करिया के पुलिस ने मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया। सजेंडी पुलिस ने भी इनकाउंटर के बाद एक अपराधी को दबोच लिया। 24 घंटे पहले एसएसपी आवास के पास अली अहमद भी पुलिस की गोली का शिकार हुआ। देररात आफताभ को इनकांउटर के बाद पुलिस ने धरदबोचा।
अफताफ की थी तलाश

पुलिस अधीक्षक कानपुर पूर्वी क्षेत्र राजकुमार अग्रवाल ने बताया पुलिस को गिरफ्त में आया बदमाश कई मामलों में वांशित था। पुलिस उसे पिछले एक साल से तलाश रही थी। आरोपी राह चलते लोगों को अपना निशाना बनाता था। मुखबिर की सूचना पर उसे अरेस्ट कर लिया गया। शातिर बीमारी का बहाना कर पुलिस कस्टडी से भाग गया। पुलिसकर्मियों ने उसका पीछा कर मुठभेड़ का दबोचा। एसपी ने बताया कि अपराधियों के खिलाफ अभियाल जारी रहेगा। शहर को पुलिस पूरी तरह से अपराध मुक्त कर देगी।

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned