जब चुड़ैल को भूख लगती है तो वह पीती है किशोरियों का खून

महिला के घर के बाहर चबूतरे में चुड़ैल का निवास है और वह चुड़ैल को खुश करने के लिए कन्याओं का खून पिलाती है

By: Ruchi Sharma

Published: 26 Jun 2016, 08:30 AM IST

कानपुर. महिला के घर के बाहर चबूतरे में चुड़ैल का निवास है और वह चुड़ैल को खुश करने के लिए कन्याओं का खून पिलाती है। चुड़ैल ने ही तेरी बेटी का कत्ल कर उसके शरीर का सारा खून पी गई है। जिसके कारण तेरी बेटी की मौत हुई। यह बात एक घाटमपुर थाना अंतर्गत साढ़ चौकी के कीसीखेड़ा गांव में एक तांत्रिक ने मृतक किशोरी के परिजनों से कही। जिस पर गुस्साए मृतका के परिजन व गांववाले देररात महिला के घर पर धावा बोलकर पहले चबूतरे को तोड़ कर तहत नहस कर डाला। फिर महिला को बाल पकड़कर घर के बाहर लाए और उसके शरीर से कपड़े उतारने के बाद उसकी जमकर पिटाई की। दबंगों की मार से महिला घायल हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला को अस्पताल में एडमिट कराया और पीड़िता की तहरीर पर चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

21वीं सदी की यह चुड़ैल पीती है खून

जहां लोग 21 वीं सदी पर जी रहे, आकाश में घर बनाकर रहने का सपना देख रहे हैं वहीं कीसीखेड़ा में एक तांत्रिक के कहने पर कि महिला चुड़ैल को पाले है, उसी के चलते गांव में कई किशोरियों की मौत हुई है पर गांववालों ने महिला को घर से बेघर कर दिया। इतना पीटा की वह आज अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है। कीसीखेड़ा निवासी जगदीश ने बताया कि गांव में कुछ दिन से एक तांत्रिक एक घर में डेरा जमाए हुए है। बताया तांत्रिक के कहने पर ही कल रात उसकी बहू शीलावती पत्नी राजकुमार पर गांववालों ने हमला कर दिया। गांववालों ने आरोप लगाया कि शीलावती अपने घर के बाहर एक चुड़ैल को रखे हुए है और जब भी चुड़ैल को भूख लगती है तो वह गांव की किशोरियों को अपना निवाला बनाती है।

तेरी बेटी मरी नहीं, चुड़ैल का भोजन बनी

गांव के छिद्दू की बेटी की मौत तीन माह पहले एकाएक हुई थी। बताया जा रहा है कि बेटी कुसुम (7) खेलते - खेलते शीलावती के चबूतरे के पास चली गई थी। घर आने के बाद वह पल्टी करने लगी। परिजन उसे अस्पताल ले जा रहे थे लेकिन बेटी ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। इकलौती बेटी की मौत से गमजदा पिता ने बेटी की मौत के कारण की जानकारी के लिए तांत्रिक छेदीलाल के पास गया और पूरी घटना की जानकारी दी। तांत्रिक ने छिद्दू से कहा तुम घर पर हवन की तैयारी शनिवार को रखो। छेद्दू ने तांत्रिक की बात मानकर घर में हवन पूजन करवाया।

हवन पूजन के बाद तांत्रिक ने छेद्दू को बताया कि तेरी बेची मरी नहीं मारी गई है। उसे किसी और ने नहीं गांव की ही शीलावती ने चुड़ैल को खुश करने के लिए बेटी को परोसा है। चुड़ैल को शीलावती पाले हुए है। तांत्रिक की बात पर विश्वास कर छेद्दू और गांववाले लामबंद हुए और शीलावती के घर पर हमला कर दिया।

पहले भी महिला पर लग चुके हैं आरोप

शीलावती के ससुर ने बताया कि आठ माह पहले चेचक के चलते गांव की दो बेटियों की मौत हो गई थी। तब राजू पासी नामक तांत्रिक के कहने पर गांव के छेद्दू, गोला, रामप्रसाद, गंगाप्रसाद सहित दो दर्जन से ज्यादा गांववालों ने पंचायत की बैठक बुलाई थी। जिस पर सभी ने एकमत होकर मेरे चबूतरे के नीचे चुड़ैल का निवास की बात कहकर उसे खोदकर तहत - नहस कर दिया था।

बेटा राजकुमार ने मामले की शिकायत पुलिस से की थी। जिस पर पुलिस की मौजूदगी में मैंने चबूतरे का पुन: निर्माण कराया था। लेकिन गांववालों को यह बीत नगवार गुजरी और उन्होंने फिर से चबूतरे के तोड़ने के साथ ही बहू और नाती की जमकर पिटाई की। गांववालों ने हमें घर से भाग जाने की चेतावनी दी। महिला के पति की शिकायत पर पुलिस ने छेद्दू, भोला, गंगीप्रसाग सहित चार को गिरफ्तार कर लिया है। मामले पर घाटमपुर कोतवाल ने बताया कि तांत्रिक अभी फरार है जल्द ही उसे भी गिरफ्तार किया जाएगा। साथ ही अन्य लोगों पर भी पुलिस कार्रवाई करेगी।
Show More
Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned