पांच से छह लाख लेकर अभ्यर्थी की जगह देते थे परीक्षा, पकड़े गए कई मुन्नाभाई

पांच से छह लाख लेकर अभ्यर्थी की जगह देते थे परीक्षा, पकड़े गए कई मुन्नाभाई

Ashish Kumar Pandey | Publish: Dec, 08 2018 08:51:53 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

रेलवे, टीईटी सहित कई परीक्षाओं में पास कराने के लिए मोटी रकम लेते हैं साल्वर।

 

कानपुर. अब हर परीक्षा के पहले मुन्ना भाई के पकड़े जाने की खबरें अक्सर आती रहती हैं। टीईटी परीक्षा के दौरान एसटीएफ बरेली ने मुरादाबाद से सॉल्वर गैंग के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया था, जिसमें कानपुर के कल्याणपुर निवासी सौरभ अस्थाना, विपिन कुमार भी शामिल था। एसटीएफ ने इन दोनों को लेकर कानपुर आई इस गैंग के अन्य सदस्यों को दबोचने के लिए जुट गई। इसी दौरान एसटीएफ को एक बड़ी सफलता हाथ लग गई। रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड की ग्रुप डी परीक्षा में दूसरे की जगह बैठने के लिए आए 10 साल्वरों को गिरफ्तार कर लिया गया। इनके पास से फर्जी आईडी, प्रवेश पत्र के अलावा मोबाइल और रुपए बरामद हुआ है। एसटीएफ आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

एसटीएफ ने दो ठिकानों में छापा मार कर 10 साल्वरों को पकड़ा
एसटीएफ की टीम को पुख्ता सूचना मिली थी कि रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड की ग्रुप डी परीक्षा के दौरान साल्वर गैंग के सदस्य कानपुर में ढेरा जमाए हुए हैं। इसी के बाद शनिवार को एसटीएफ ने दो ठिकानों में छापा मार कर 10 साल्वरों को पकड़ा। इनमें से राहुल कुमार पुत्र गणेश, महेश कुमार यादव, प्रवेश यादव, सुनील कुमार शाह, ललित कुमार यादव, अजय कुमार तांती, विकास कुमार मालाकार, मुकेश कुमार सिंह, रामबाबू पाल, अजय कुमार यादव शामिल हैं। अब एसटीएफ के अधिकारी इनसेपूछताछ कर रहे हैं। इन से और भी कई राज खुलने की उम्मीद है। वहीं स्थानीय पुलिस पूरे प्रकरण पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

सरगना भी आया शिकंजे में
एसटीएफ के हत्थे लगे साल्वर गैंग के सदस्य रेलवे के अलावा अन्य परीक्षाओं में ं प्रश्नपत्र आउट कराने के अलावा खुद परीक्षा में बैठने के बदले में अभ्यर्थियों से मोटी रकम लेते थे। गैंग के सदस्य उत्तर प्रदेश सहित कई अन्य राज्यों के विभिन्न जिलों में जगह-जगह परीक्षा सेन्टर पर अपने कैंडिडेट बैठा कर पेपर सॉल्व करवाता था। पकड़े गए साल्वरों में गैंग का सरगना भी शामिल है, जो टीईटी के अलावा कई अन्य परीक्षाओं में साल्वरों को बैठाता था।

5 लाख रुपए लेते थे
जानकारी के अनुसार परीक्षा पास कराने के लिए यह सॉल्वर गिरोह एक कैंडिडेट से 5 से 6 लाख रुपए लेता था। एसटीएफ को इस गैंग की कई माह से तलाश थी। इन सभी के खिलाफ कल्याणपुर थाने में विधिक कार्रवाई की जा रही है। इनके पास से एसटीएफ ने 11 मोबाइल, 21 एडमिट कार्ड, 1 फर्जी वोटर आईडी कार्ड, 5 ब्लैंक चेक, 3 डॉइविंग लाइसेंस, एक पेटीएम कार्ड. 19 आधार कार्ड, 6 एटीएम कार्ड, 3 पैन कार्ड, 1 बुलेट मोटरसाइकिल, 1 स्कूटी व 56260 रुपए कैश बरामद किया है।

Ad Block is Banned