सरकार के सारे प्रयास यहाँ विफल, करीब दो दर्जन गांव गर्मी से बेहाल

सरकार के सारे प्रयास यहाँ विफल, करीब दो दर्जन गांव गर्मी से बेहाल

Arvind Kumar Verma | Publish: Sep, 11 2018 06:50:27 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

जिले में स्थापित हुये नये विधुत सबस्टेशन की आपूर्ति शुरू करने के कुछ समय बाद आपूर्ति बंद होने से करीब 25 गांवों के लोग बेहाल हैं

कानपुर देहात-सूबे की योगी सरकार की मंशा है कि प्रदेश के गांव गांव बिजली से रोशन हों। आये दिन विद्युत वितरण में होने वाली गड़बड़ी को लेकर उन्होंने नए सब स्टेशनों को स्थापित करने के लिए दीनदयाल उपाध्याय योजना के तहत सब स्टेशन स्थापित कराए हैं। साथ ही गांवों में विद्युतीकरण की व्यवस्था सुनिश्चित करे है लेकिन स्थापित हुए न्यू रनियां और आंट सबस्टेशन चलने से पहले ही लड़खड़ा रहे हैं। शुरुवात करते ही न्यू रनियां सबस्टेशन के उपकरण फुंक गए, जिसे 25 गांवों की बिजली गुल हो गयी। इसके बाद जब आंट सबस्टेशन से आपूर्ति का प्रयास किया गया तो वह भी ट्रायल में ही फेल हो गया। जिससे ग्रामीणों के लिए इस उमस भरी गर्मी में भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

दोनों सबस्टेशन शुरू से पहले बंद हो गए

बताते चलें कि सरकार के प्रयास से सरवनखेड़ा के नारीखेत गांव में दो करोड़ रुपये की लागत से 33 केवी न्यू रनियां सबस्टेशन बनाया गया था। चालू होने के कुछ दिन बाद ही उसकी मशीनें दगा देने लगीं। बीती 18 अगस्त को वैक्यूम सर्किट ब्रेकर धमाके के साथ फुंक गया था। हालांकि इस घटना में एसएसओ रामनारायण झुलस भी गए थे। इस घटना से करीब 25 गांवों में बिजली की समस्या खड़ी हो गयी है। इसके बाद में आंट गांव में पंडित दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत 1 करोड़ 94 लाख रुपये की लागत से बने सबस्टेशन से जोड़कर ट्रायल के तौर पर बिजली आपूर्ति शुरू की गई। हालांकि ग्रामीणों को राहत मिली लेकिन कुछ देर बाद ही आंट सबस्टेशन के पचहरा फीडर की वीसीबी दगा दे गई। इससे आंट सबस्टेशन ठप हो गया।

 

25 गांवों में खड़ा हो गया बिजली संकट

ऐसे में 25 गांवों में फिर बिजली संकट हो गया। विभागीय अधिकारियों ने इंजीनियर बुलाकर जैसे-तैसे न्यू रनियां सबस्टेशन से बिजली आपूर्ति बहाल की लेकिन बीती रात परसौली फीडर की आउट गोइंग वीसीबी के उपकरण जल गए। इसके बाद से लोड बढ़ने से ट्रिपिंग की समस्या भी बढ़ गई है और उपभोक्ता भीषण गर्मी में तड़प रहे हैं। दीपक सिंह अधिशासी अभियंता विद्युत खंड रनियां ने बताया कि न्यू रनियां सबस्टेशन वारंटी अवधि में है। कार्यदायी संस्था के इंजीनियर खामी ठीक करने की कोशिश कर रहे हैं। आंट सबस्टेशन विभाग को हस्तांतरित नहीं हुआ है। ट्रायल के दौरान ही वीसीबी फुंक गई। इन दोनों की मरम्मत कराई जाएगी।

Ad Block is Banned