SC-ST एक्ट के विरोध में रोक दी ट्रेन, सवर्णो ने जंजीरों में जकड़ किया प्रोटेस्ट

SC-ST एक्ट के विरोध में रोक दी ट्रेन, सवर्णो ने जंजीरों में जकड़ किया प्रोटेस्ट

Vinod Nigam | Publish: Sep, 06 2018 03:55:19 PM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India

एससी-एसटी एक्ट कानून संसोधन की मांग को लेकर सवर्णो ने भारत बंद का किया था आवह््न, कानपुर में लोगों ले किया प्रदर्शन

कानपुर। एससी-एसटी के विरोध में सवर्ण संगठनों ने गुरूवार को भारत बंद का आवह्न किया था। जिसके असर कानपुर में दिखा। यहां सैकड़ों की संख्या में सवर्ण के अलावा ओबीसी और मुस्लिम समाज के साथ ही व्यापार मंडल के लोगों ने अपने आपको जंजीरों में बांधकर बीजेपी के साथ ही कांग्रेस, सपा व बसपा के खिलाफ जुबानी हमला बोला। व्यापारी नेता आकाश यादव ने कहा कि राजनेताओं ने वोटबैंक के चलते एक जाति के पास सवर्ण सहित अन्य जातियों को जेल भेज का कानून थमा दिया है, जिसकी हमलोग घोर निंदा करते हैं। अगर यह कानून नहीं बदला गया तो हम सभी नोटा का प्रयोग करें।

गिरफ्तारी को लेकर थाने के अंदर घुसे
सवर्ण स्वाभिमान समिति के सदस्य सुबह काले कपड़े पहन, हाथों में हथकड़ी डाल और गले में लोहे की जंजीर पहनकर जुलूस की शक्ल में घंटाघर चौराहे से निकले। ये जुलूस गुड़ मंडी, नयागंज से होते हुए कलक्टर गंज थाने पहुंचा और वहीं गिरफ्तारी की मांग को लेकर थाने के सामने सड़क पर बैठ गया। प्रदर्शन के साथ ही नारेबाजी शुरू हो गई। सभी पुलिस से खुद को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे। करीब एक घंटा तक प्रदर्शन करने के बाद भी जब पुलिस ने उनको गिरफ्तार नहीं किया तो सभी थाने के अंदर घुस गए। जहां सीओ कलक्टरगंज के ज्ञापन लेने के बाद सभी लौट आए। इस मौके पर सवर्णो के साथ ओबीसी और बड़ी सख्या मुस्लिम समाज के लोग शामिल थे।

एसडीएम को करें गिरफ्तार
सवर्ण स्वाभिमान समिति के संयोजक ज्ञानेश मिश्रा ने कहा कि नोएडा में रिटायर्ड कर्नल से मारपीट करने वाले एसडीएम की गिरफ्तारी की जाए। उन्होंने कहा कि एससीएसटी एक्ट में संशोधन किए जाने से इसका दुरुपयोग होगा और निर्दोष लोग भी फंस जाएंगे। इसलिए से संशोधन वापस लिया जाए, नहीं तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा। ज्ञानेश मिश्रा ने कहा कि राजनेता वोटबैंक के चलतें इंसानों को बांट रही है, जो देश के लिए बहुत खतरनाक है। नेताओं को समाज को बांटने के बजाए सबको साथ लेकर चलना चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अक्सर सबका-साथ, सबका विकास की बात करते हैं लेकिन एक जाति के वोट के चलते सवर्णो के सिर पर एक कानून लाद दिया, जिसे समाज के लोग लोकसभा चुनाव में उन्हें हराकर सबक सिखा देंगे।

रोक दी ट्रेन
आगरा से चलकर 11 बजकर 12 मिनट पर पनकी स्टेशन पर पहुंची आगरा इंटरसिटी को इलाकाई लोगों ने रेलवे ट्रैक पर एकत्रित होकर रोक लिया। इस दौरान कुछ युवक ट्रेन के इंजन पर चढ़ कर नारेबाजी करने लगे। जिसे देख पनकी स्टेशन पर तैनात आरपीएफ चौकी प्रभारी अभिषेक कुमार यादव टीम के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे। आरपीएफ की टीम ने इंजन पर कब्जा किए लोगों को समझा बुझाकर नीचे उतारा। वहीं लोगों से आम जनमानस को ध्यान में रखते हुए शातिपूर्ण ढंग से विरोध प्रदर्शन की अपील की तो लोगों ने रेलवे ट्रैक को खाली कर दिया। विरोध प्रदर्शन के चलते 10 मिनट बाद ट्रेन कानपुर सेंट्रल के लिए रवाना हो गई।

Ad Block is Banned