टोल प्लाजा से बिना ई-वे बिल गुजरने वाले ट्रकों की नहीं होगी खैर, बीफा सॉफ्टवेयर पकड़ेगा ऐसे ट्रक

-टोल प्लाजा पर बिना ई-वे बिल गुजरते ट्रकों पर होगी पैनी नजर,
-बीफा सॉफ्टवेयर से होगी ऐसे ट्रकों की निगरानी,
-वाणिज्य कर विभाग टीम द्वारा पकड़े जाएंगे ऐसे ट्रक,

By: Arvind Kumar Verma

Published: 22 Jul 2021, 05:27 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. टोल प्लाजा से बिना ई-वे बिल जेनरेट किए गुजरने वाले ट्रकों की अब खैर नहीं होगी। वाणिज्य कर विभाग ने माल लेकर गुजरने वाले ट्रकों को पकड़ने के लिए नई तकनीक को हथियार बनाया है। ऐसे ट्रक बीफा सॉफ्टवेयर की नजर में आएंगे। इसके बाद वाणिज्य कर विभाग की टीम द्वारा पकड़े जाएंगे। इस सॉफ्टवेयर से टोल प्लाजा से ऐसे ट्रक गुजरते ही विभागीय अधिकारियों के पास उनके ई-वे बिल जारी होने की जानकारी जाएगी। इसके बाद विभागीय अधिकारी सचल दल के जरिए तुरंत कार्रवाई कर ट्रकों को पकड़ सकेंगे।

इस तरह करेगा बीफा सॉफ्टवेयर काम

वाणिज्य कर विभाग के विशेष अनुसंधान शाखा के अधिकारियों को इसी माह बिना ई-वे बिल के माल एक स्थान से दूसरे स्थान ले जा रहे ट्रकों की सटीक जानकारी के लिए एक नया साफ्टवेयर बिजनेस इंटेलीजेंस एंड फ्राड एनालिटिक (बीफा) मिला है। यह साफ्टवेयर टोल प्लाजा से लिंक है। जैसे ही कोई ट्रक टोल प्लाजा से गुजरता है। टोल प्लाजा में लगा साफ्टवेयर बीफा को उस ट्रक का नंबर भेज देता है। बीफा साफ्टवेयर में जैसे ट्रक का नंबर पहुंचता है, वह पता कर लेता है कि उस ट्रक के नंबर पर कोई ई-वे बिल जारी किया गया है या नहीं। वह इसका संदेश तुरंत वाणिज्य कर विभाग के अधिकारी के सिस्टम पर जेनरेट कर देता है।

सॉफ्टवेयर से अफसरों को तुरंत मिलती जानकारी

इसमें कुछ मिनट का ही समय लगता है और अधिकारियों को पूरी डिटेल मिल जाती है। ट्रक किधर जा रहा है, इसकी जानकारी मिलते ही सचल दल के अधिकारी ट्रक को पकड़ लेते हैं। संयुक्त आयुक्त विशेष अनुसंधान शाखा वाणिज्य कर विभाग सुशील कुमार सिंह ने बताया कि बीफा साफ्टवेयर से बिना ई-वे बिल जेनरेट किए प्रदेश में चल रहे ट्रकों की जानकारी तुरंत मिल रही है। इसकी वजह से ऐसे ट्रकों को पकडऩा बहुत आसान हो गया है। कोरोना काल के दौरान कारोबारियों ने बिना ई-वे बिल जेनरेट किए माल भेजना शुरू कर दिया था।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned