बिकरू कांड: एसआईटी की सिफारिश पर जय बाजपेई पर केस दर्ज, अपराधिक इतिहास छिपा बनवाया था पासपोर्ट

एसआईटी की तफ्तीश में पता चला है कि जयकांत बाजपेई पर कई अपराधिक मामले दर्ज हैं। इसके बावजूद 2012 में उसका पासपोर्ट बन गया।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 23 Nov 2020, 10:31 AM IST

कानपुर-अपना वास्तविक अपराधिक इतिहास छिपाकर फर्जी शपथ पत्र लगा पासपोर्ट बनवाने के मामले में कानपुर की नजीराबाद पुलिस ने विकास के करीबी जय बाजपेई पर एक और एफआईआर दर्ज की है। इसके लिए एसआईटी द्वारा सिफारिश की गई, जिसके बाद जय बाजपेई पर कार्रवाई की गई है। बताया जा रहा है कि पुलिस की मिलीभगत से जय बाजपेई ने ये फर्जीवाड़ा किया था। दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की सिफारिश पहले ही हो चुकी है। बिकरू कांड की जांच करने वाली एसआईटी की तफ्तीश में पता चला है कि जयकांत बाजपेई पर कई अपराधिक मामले दर्ज हैं। इसके बावजूद 2012 में उसका पासपोर्ट बन गया है।

जिसमें सत्यापन रिपोर्ट भी पुलिस द्वारा बनी हुई लगी है। यहां तक कि जय द्वारा दिया गया शपथ पत्र भी फर्जी निकला। उसमें सही तथ्य छिपाए गए थे। इसलिए एसआईटी ने इन तथ्यों के आधार पर एफआईआर की सिफारिश की। एसपी साउथ दीपक भूकर ने बताया कि जय के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य हैं। उसी आधार पर उसके खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी, पासपोर्ट अधिनियम, तथ्य छिपाने, झूठे तथ्य प्रस्तुत करने समेत अन्य गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया है। जांच शुरू की गई है। जल्द मामले में कोर्ट से अनुमति लेकर जय के बयान जेल में दर्ज करने विवेचक जाएगा।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned