बिकरू कांड : एसआईटी ने इन 90 अफसरों पर की कार्रवाई की सिफारिश, कहा- सभी को मिले कड़ी सजा

SIT Report : विकास दुबे की 150 करोड़ की संपत्ति की जांच प्रवर्तन निदेशालय से कराने की मांग

By: Hariom Dwivedi

Updated: 01 Dec 2020, 06:02 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. बिकरू कांड की जांच के लिए गठित स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) ने गैंगस्टर विकास दुबे द्वारा जुटाई गई 150 करोड़ की संपत्ति की प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से जांच की सिफारिश की है। 3100 पेज की रिपोर्ट में एसआईटी ने पुलिसकर्मियों और दूसरे विभाग के अफसरों सहित 90 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। एसआईटी का कहना है कि इन अफसरों की वजह से ही विकास दुबे की अवैध संपत्ति बढ़ी। ऐसे में इन सभी अधिकारियों को कानून के तहत सजा देनी चाहिए।

एसआईटी ने अक्टूबर में ही बिकरू कांड की रिपोर्ट जमा कर दी थी, हाल ही में जिसे यूपी सरकार ने रिसीव किया है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि स्थानीय अधिकारियों ने विकास दुबे के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। इन्होंने ही फर्जी सिम, हथियार, पासपोर्ट, नकली डॉक्यूमेंट तैयार करने में भी उसकी मदद की। जिसकी वजह वह गैंग तैयार कर सका। रिपोर्ट में यह भी खुलासा हुआ है कि विकास दुबे को दबिश की जानकारी भी पुलिस अफसरों ने दी थी।

जांच के लिए गठित की गई थी एसआईटी
दो जुलाई 2020 को कानपुर के बिकरू गांव में सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियों की उस वक्त हत्या कर दी गई थी जब पुलिस टीम गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई थी। करीब एक हफ्ते बाद पुलिस ने मध्य प्रदेश से फरार विकास दुबे को गिरफ्तार कर यूपी ला रही थी। रास्ते में भागने की फिराक में वह पुलिस एनकाउंटर में मारा गया था। सवाल उठे तो एनकाउंटर और बिकरू कांड की जांच के लिए एसआईटी गठित की गई। एसआईटी ने बीते दिनों अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी थी।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned