इस वजह से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने बगावत पर उतरे चार कार्यकर्ताओं का किया निष्कासन

उन्होंने जिलाध्यक्ष को निर्देश जारी किया है कि इन सभी बागी प्रत्याशियों के वाहनों से भाजपा के झंडे और बैनर हटवा लिए जाएं।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 11 Apr 2021, 08:25 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. पंचायत चुनाव (Panchayat Chunav) की सरगर्मी तेज हो गई है। राजनैतिक पार्टियों (Political Party) का रवैया भी सख्त नजर आ रहा है। पार्टी से अधिकृत प्रत्याशियों के विरोध में खड़े हुए भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष (BJP Pradesh Adhyaksh) स्वतंत्र देव सिंह (Swatantradev Singh) ने शनिवार को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। शनिवार को प्रदेश अध्यक्ष द्वारा की गई इस बड़ी कार्यवाही की चर्चा तेज है। वहीं कानपुर में आयोजित बैठक में प्रदेश अध्यक्ष ने बागी नेताओं को लेकर नाराजगी भी जाहिर की। दरअसल बैठक में पदाधिकारियों और प्रदेश अध्यक्ष की तरफ से बागी नेताओं को समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन बागियों ने प्रदेश अध्यक्ष की बात मानने से मना कर दिया।

कानपुर सहित मंडल के कई जनपदों में इस तरह के बागी नेताओं पर गाज गिरी है। प्रदेश अध्यक्ष की बात न मानने पर उन्होंने जिलाध्यक्ष को निर्देश जारी किया है कि इन सभी बागी प्रत्याशियों के वाहनों से भाजपा के झंडे और बैनर हटवा लिए जाएं। दरअसल भाजपा द्वारा प्रत्याशी घोषित किए जाने बाद अधिकृत प्रत्याशियों की तरफ से शिकायत की गई थी कि पार्टी के ही कुछ लोग प्रत्याशी बनकर विरोध में उतर आए हैं, जिससे नुकसान हो रहा है।

बैठक में प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि चुनाव जीतने के लिए बूथ स्तर पर जीत सुनिश्चित करनी जरूरी है। इसका फायदा अगले वर्ष विधानसभा चुनाव में मिलेगा। इस तरह जिला कार्य समिति सदस्य कुश अग्निहोत्री, मंडल अध्यक्ष भीतरगांव विनय शुक्ला, मंडल मंत्री पतारा कुलदीप तिवारी, मंडल उपाध्यक्ष मंझावन सजय यादव चार कार्यकर्ताओं का निष्कासन किया गया।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned