जब भाई ने बहन और उसके प्रेमी को रंगे हांथो पकड़ा, तो उठाया ये खौफनाक कदम

अवैध संबंध होने के शक की वजह से कर दी हत्या

By: Mahendra Pratap

Published: 16 May 2018, 06:40 PM IST

कानपुर देहात. बीते दिनों शिवली क्षेत्र के हृदयपुर गांव में आयोजित एक समारोह से गायब हुए मनीष का शव दो दिन बाद तालाब में बरामद किया गया था। घटना क्रम के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के हृदयपुर गांव निवासी चुन्नीलाल यादव का 18 वर्षीय पुत्र मनीष उर्फ गोलू यादव 2 मई को गांव में आयोजित एक समारोह में शामिल होने गया था, जहां से वह गायब हो गया था। उसका शव 4 मई 2018 की शाम करीब 5 बजे गांव के ज्वाला देवी मंदिर के सामने बने तालाब में मिला था। सिर पर गंभीर चोटो के निशान थे।

पकड़ा गया आरोपी

शव मिलने के बाद मृतक की माँ के द्वारा आरोपित युवकों की तलाश शिवली पुलिस के लिए नासूर बने हुए थे। वहीं बीते दिन पुलिस के हत्थे हत्या में प्रयुक्त डंडा मिलने से पुलिस को राहत मिली। जिसके बाद पुलिस ने अतुल उर्फ सुशील को गिरफ्तार कर किया। उसने जुर्म कबूल करते हुए पूरी कहानी बयां कर दी।

 

शिवली कोतवाली क्षेत्र के हृदयपुर में रहने वाले गोलू यादव (18) दो मई को तिलक समारोह में शामिल होने के लिए घर से निकला था और लापता हो गया था। चार मई को उसका शव ज्वाला देवी मंदिर के पास तालाब में मिला था। मृतक की मां माया देवी ने ढिकिया गांव निवासी शिवकुमार के पुत्र सुशील यादव उर्फ अतुल एवं परनामिन पुरवा गांव निवासी रामबाबू के पुत्र छोटू उर्फ विकास के विरुद्ध पुत्र की हत्या करने का संदेह जता मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद छोटू परिवार समेत घर मे ताला डालकर फरार हो गए थे। पुुुलिस छानबीन के दौरान युवक के लापता होने वाली शाम को एक युवती द्वारा 35 बार फोन करने की जानकारी हुई।

 

अवैध संबंधों पर था शक

इसके बाद युवती से पूछताछ के बाद पुलिस ने हत्या के प्रमुख सूत्रधार अतुल की तलाश शुरू की थी। मंगलवार को मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने आरोपित सुशील को नहरीबरी मोड़ के पास से गिरफ्तार कर लिया था। शिवली कोतवाल महेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि पूछताछ में सुशील ने अवैध संबंधों के शक में हत्या करने की स्वीकारोक्ति की है। उसने बताया कि उसकी बहन के मनीष से अवैध संबंध थे। ये बात जब उसको पता चली, तो वह गोलू पर नजर रखने लगा। उस दिन उसने गोलू को रंगे हांथो पकड़ लिया और उसके सिर पर डंडा से हमला बोल दिया, जिससे उसकी मौत हो गयी। फिर उसने छोटू की मदद से उसके शव को तालाब किनारे फेंक दिया। उसकी निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त खून सना डंडा भी बरामद कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि हत्या में शामिल रहे छोटू उर्फ विकास पुत्र रामबाबू की तलाश की जा रही है।

Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned