बहेलिया की हत्या कर पक्षी के साथ काट ले गए हाथ

बहेलिया की हत्या कर पक्षी के साथ काट ले गए हाथ

Vinod Nigam | Publish: Dec, 08 2018 06:38:56 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

बहेलिया को मार कर शव को रेलवे ट्रैक पर फेंका, पक्षी पैसे ले गए आरोपी...

कानपुर। नौबस्ता थानाक्षेत्र निवासी एक बहेलिया की गला दबाकर हत्या कर दी गई और शव को रेलवे ट्रैक पर फेंककर आरोपी उसके पक्षी और पैसे लेकर फरार हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। शव का एक हाथ कटा हुआ था। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने एफआईार लिख जांच शुरू कर दी है।

ट्रैक पर पड़ा था शव
नौबस्ता के दबौली निवासी श्यामलाल बहेलिया का कारोबार करता था। वो घर पर पक्षियों को पालता और उन्हें बेंचकर अपना व परिवार का पेट पालता था। शुक्रवार को श्यामलाल घर से सुबह निकला, लेकिन देरशाम तक घर नहीं लौटा तो परिजन उसके मोबाइल फोन पर कॉल किया, जो स्वीच ऑफ बता रहा था। सुबह के वक्त पुलिस को झांसी रेलवे ट्रैक पर एक शव पड़े होने की सूचना मिली। गोविंद नगर पुलिस मौके पर पहुंची। युवक की तलाशी के दौरान पुलिस के हाथ डायरी लगी। इसमें उसके भाई भइया लाल का नाम और मोबाइल नंबर लिखा था। पुलिस ने मृतक के भाई को सूचना दी।

पक्षी बेंचकर पालता था पेट
श्यामलाल के भाई ने बताया कि वो कबूतर, तोता सहित अन्य प्रजाति के पक्षी घर में पाले हुए थे। वो सुबह उनको लेकर निकल जाता और बेंचकर घर वापस आता था। भइया लाल का आरोप है कि लूटपाट के लिए श्याम की हत्या की गई है। श्याम के पास न तो पक्षी मिले हैं और न ही नगदी। श्याम के पिता कुंजी लाल प्राइवेट नौकरी करते हैं। मृतक के पिता ने बताया कि उसे बचपन से पक्षु-पक्षीओं से लगाव था। घर में उसने कई प्रकार के पक्षी पाल रखे थे। उन्हें तैयार करता और बाजार में बेचता था।

काट ले गए हाथ
आरोपियों पे श्यामलाल की हत्या के बाद सारे पक्षीओं के अलावा पैसे छीन लिए। साथ ही उसका हाथ भी काट ले गए। वहीं मोहल्लेवालों की मानें तो भईयालाल के पास तंत्र-मंत्र करने वाले लोग भी आते राहते थे। लोगों ने बताया कि भईया लाल के पास उल्लू को भी पालता था। पुलिस व वन विभाग की कड़ाई के चलते वो चोरी-छिपे इन्हें पिंजड़ों में रखता था। वहीं गोविंदनगर इंस्पेक्टर का कहना है पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जल्द ही आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned