घाटमपुर उपचुनाव में बसपा ने कसी कमर, पार्टी ने दावेदारी के लिए तय किया ये नाम, ऐसा रहा राजनीतिक सफर

कानपुर देहात के पुखरायां क्षेत्र के पिपरी गांव के रहने वाले हैं।

By: Arvind Kumar Verma

Updated: 16 Sep 2020, 05:15 PM IST

कानपुर देहात-कानपुर के घाटमपुर विधानसभा से विधायक एवं सूबे की बीजेपी सरकार में मंत्री रहीं कमलरानी वरुण की बीमारी से निधन हो गया था। जिसके बाद इस सीट पर उपचुनाव के लिए बसपा प्रमुख मायावती ने तैयारी कर ली है। घाटमपुर सीट से उपचुनाव में बसपा प्रमुख द्वारा कुलदीप संख़वार का नाम सामने आ रहा है। बसपा प्रमुख उपचुनाव को लेकर भरपूर तैयारी से दिख रही हैं। हालांकि बसपा से उम्मीदवारों की घोषणा से विपक्षी दलों में हलचल बढ़ गई है। फिलहाल उपचुनाव का कार्यक्रम घोषित करने के बाद निर्वाचन आयोग द्वारा इसकी अधिकृत घोषणा की जाएगी। बताया गया कि कुलदीप संखवार ने बीते दिन बसपा प्रमुख से मुलाकात की। कुलदीप संखवार मूलतः कानपुर देहात के पुखरायां क्षेत्र के पिपरी गांव के रहने वाले हैं। बसपा पार्टी में वजूद रखने वाले कुलदीप जनपद कानपुर देहात के करीब चार बार जिलाध्यक्ष रह चुके हैं।

कुछ इस तरह रही घाटमपुर की चुनावी पृष्ठभूमि

इस सीट पर 1996 में बसपा प्रत्याशी के रूप में राजाराम पाल ने जीत हासिल की थी। वहीं रामप्रकाश कुशवाहा ने 2007 में जीत दर्ज की थी। इसके बाद 2012 के चुनाव में सपा के इंद्रजीत कोरी ने जीत दर्ज की और बसपा से सरोज कुरील को हार का मुंह देखना पड़ा। वहीं 2017 में लहर में आई भाजपा से कमलरानी वरुण ने परचम लहराया। इस बार पुनः सरोज कुरील हार गईं। कमलरानी के विधायक बनने के बाद यूपी सरकार ने उन्हें मंत्री पद से नवाजा, लेकिन बीते माह बीमारी के चलते अस्पताल में उनका निधन हो गया। जिसके बाद घाटमपुर सीट रिक्त हो गई।

यूपी पिछड़ा वर्ग आयोग के बने थे सदस्य

पार्टी में रह चुके पदाधिकारी ने बताया कि इससे पूर्व कुलदीप ने बसपा से टिकट मांगी थी, लेकिन नहीं मिली। हालांकि इस बार उनका नाम उपचुनाव में सामने आ रहा है। नगर पालिका के पिछले चुनाव में उन्होंने अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ा था, लेकिन हार का सामना करना पड़ा था। 2007 के चुनाव में तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने कुलदीप को उप्र पिछड़ा वर्ग आयोग का सदस्य बनाया था। वहीं कुलदीप कई बार बसपा से निकाले भी गए।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned