मायावती के इस करीबी नेता ने छोड़ी बसपा, भीम आर्मी चीफ के दल की ली सदस्यता

कल्याणपुर विधानसभा सीट से दीपू निषाद लड़ चुके हैं बसपा के टिकट पर चुनाव, अब चंद्रशेखर की पार्टी के लिए तैयार करेंगे जमीन।

By: Vinod Nigam

Published: 15 Mar 2020, 06:10 PM IST

कानपुर। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने अपनी नई राजनीतिक पार्टी का एलान कर दिया है। उन्होंने अपने दल का नाम आजाद समाज के साथ ही झंडा का रंग नीला रखा। इस बीच कई नेताओं ने आजाद समाज पार्टी में शामिल हुए। इन्हीं में से कानपुर के कल्याणपुर निवासी व मायावती के करीबी युवा नेता दीपू निशाष ने बसपा का दामन छोड चंद्रशेखर से हाथ मिला लिया।

कौन हैं दीपू निषाद
मूलरूप से कल्याणपुर निवासी दीपू निषाद विछले 15 वर्षो से बसपा से जुड़े हैं। कल्याणपुर विधानसभा सीट से मायावती ने उन्हें 2017 के विधानचुनाव में टिकट देकर चुनाव के मैदान में उतारा। पर दीपू चुनाव हार गए और तीसरे नंबर पर रहे। दीपू की निषाद समुदाय में अच्छी पकड़ बताई जाती है। गंगा के कटरी क्षेत्रों के अलावा घाटमपुर, जहनाबाद, बिंदकी, हमीरपुर विधानसभा क्षेत्रों में इनकी अच्छी पकड़ है। उपचुनाव में बसपा की तरफ से दीपू ने पार्टी उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार किया।

घर से चला रहीं पार्टी
चंद्रशेखर की पार्टी की सदस्यता लेने के बाद दीपू निषाद ने पत्रिका डाॅट काॅम से खास बातचीत के दौरान कहा कि मायावती के चलते बसपा का अस्तिव यूपी में पूरी तरह से समाप्त हो गया है। बसपा प्रमुख कभी घर से निकल कर सड़क पर नहीं उतरतीं। प्रदेश में इनदिनों दलित, पिछड़े, गरीब और अल्संख्यक समाज का उत्पीड़न किया जा रहा है। बावजूद बसपा प्रमुख सिर्फ मीडिया य सोशल मीडिया के जरिए लिखी हुई बातें बोले कर चलीं जाती हैं। इसी के चलते कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा है।

बसपा चीफ पर लगाए आरोप
दीपू निषाद ने बसपा सुप्रीमो पर कई आरोप लगाए। कहा वह दलितों की नेता अब नहीं रहीं। उन्हें कैडर से मतलब नहीं होता। कुछ लोगों के कहने पर उम्मीदवारों को टिकट दिया जाता है। . उन्होंने कहा कि वह शुरू से ही बसपा की सेवा कर रहे थे और दो बार कल्याणपुर सीट से चुनाव भी लड़ा। गरीब जनता की सेवा कर रहे हैं, लेकिन बसपा में यदि कोई बात उठाई जाती है तो पार्टी प्रमुख सुनने को तैयार नहीं होती। इसलिए हमनें पार्टी छोड़ दी। चंद्रशेखर के नेतृत्व में हम हमलोग यूपी की योगी सरकार के जनविरोधी फैसलों को लेकर आंदोलन करेंगे।

शामिल होंगे कई नेता
दीपू निषाद ने बताया कि नोएडा सेक्टर 70 स्थित बसई गांव में चंद्रशेखर आजाद ने पार्टी की बुनियाद रखी है। इस दौरान बड़ी संख्या में भीम आर्मी के कार्यकर्ता और नेताओं के अलावा 28 पूर्व विधायक और 6 पूर्व सांसद भी मौजूद थे। पूर्व बसपा नेता ने कहा कि कानपुर के कई नेता जल्द ही अजाद समाज पार्टी की सदस्यता लेंगे। इनमें बसपा के अलावा सपा और कांग्र्रेस के नेता व पदाधिकारी होंगे। जल्द ही चंद्रशेखर आजाद की बड़ी रैली का आगाज कानपुर में होगा।

Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned