नियुक्ति पत्र को लेकर भड़के बीटीसी अभ्यर्थी, धरने पर बैठ जमकर काटा बवाल

Ashish Pandey

Publish: May, 18 2018 04:01:40 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
नियुक्ति पत्र को लेकर भड़के बीटीसी अभ्यर्थी, धरने पर बैठ जमकर काटा बवाल

तीन महिला अभ्यर्थियों की हालत बिगड़ी, बीएसए के समझाने पर भी नहीं माने।

 

कानपुर देहात. उत्तर प्रदेश में परिषदीय स्कूलों में होने वाली शिक्षक नियुक्ति को लेकर हमेशा पेंच फंसा रहा है। छात्र-छात्राओं को नियुक्ति लेने के लिए सड़कों पर उतरकर आंदोलन करना पड़ा है, यहां तक कि कई भर्तियों में लंबे अरसे तक शासन से जंग चलती रही है, जिसके नजीर के रूप में 72 हजार प्राइमरी शिक्षक भर्ती है, लेकिन अब बीटीसी छात्र-छात्राओं के सामने भी नियुक्ति पत्र को लेकर समस्या खड़ी हुई तो छात्र-छात्राएं धरने पर बैठ गए।
दरअसल कानपुर देहात के परिषदीय स्कूलो में अध्यापक पदों पर भर्ती के नियुक्ति पत्र की माँग को लेकर बीटीसी अभ्यर्थी करीब एक सप्ताह से बीएसए कार्यालय के चक्कर काट रहे थे, वहीं तत्कालीन बीएसए पवन कुमार के निलंबन के बाद अभियर्थियों की नियुक्ति लटक गई, जिससे गुस्साए अभ्यर्थी बीएसए कार्यालय परिसर में गुरुवार देर रात धरने पर बैठ गए और फिर हंगामा शुरू कर दिया। बीएसए संगीता सिंह ने काफी समझाया लेकिन अभ्यर्थी अपनी मांग पर अड़े रहे और तत्काल नियुक्ति पत्र लेने की मांग करते रहे।

लगातार बीएसए कार्यालय के चक्कर काट रहे थे

दरअसल शासन स्तर से बेसिक शिक्षा विभाग में 12460 सहायक अध्यापक पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई थी। जिसमें ऑनलाइन आवेदन के बाद अप्रैल में काउंसलिंग के दौरान अभ्यर्थियों के सभी कागजात जमा करा लिए गए थे। इसके बाद से अभ्यर्थी नियुक्ति पत्र पाने के लिए लगातार बीएसए कार्यालय के चक्कर काट रहे थे। बीते दिन अभ्यर्थी फिर से बीएसए कार्यालय पहुंचे लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने पर नाराज होकर देर रात अभ्यर्थी कार्यालय परिसर में धरने पर बैठ गए और हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर अकबरपुर एसडीएम परवेज अहमद, पुलिस क्षेत्राधिकारी अकबरपुर अजय प्रकाश श्रीवास्तव भारी पुलिस फ़ोर्स के साथ मौके पर पहुँचे। वहीं भीषण गर्मी के चलते तीन महिला अभ्यर्थी बेहोश हो गईं। हालत बिगडऩे पर तत्काल एम्बुलेंस बुलाई गई, जिसके बाद उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया गया।

वो झल्लाते हुए वहां से चली गईं

महसूल तब और गरमा गया जब बीएसए संगीता सिंह का गुस्सा भी देखने को मिला और वह बोलीं कि आज तो किसी हाल में नियुक्ति पत्र नहीं दे पाऊंगी। मैने आप लोगों को रोककर नहीं रखा है और आप लोगों की सुरक्षा की मेरी कोई गारन्टी नहीं है। दरअसल अभ्यर्थियों में छात्राएं भी काफी संख्या में थीं। रात काफी हो चुकी थी, छात्राओं को जाने में काफी समस्याएं हो सकती थीं, जिसको लेकर जिला बेसिक शिक्षाधिकारी संगीता सिंह जो कि खुद एक महिला हैं, उनके मुंह से ये बात महिला अभ्यर्थियों को हजम नहीं हुई कि तुम्हारी सुरक्षा की जिम्मेदारी मेरी नहीं है। आप लोग ने कहा था कि मैं अपनी सुरक्षा स्वयं कर सकती हूँ तो अपनी सुरक्षा स्वयं करिए। इसके बाद वो झल्लाते हुए वहां से चली गईं।
जिला बेसिक शिक्षाधिकारी संगीता सिंह ने बताया कि पूरी भर्ती में 144 पद पर कानपुर देहात में नियुक्ति देना है, इसी को लेकर अभ्यर्थी धरने पर बैठे हैं, सचिव शिक्षा विभाग को अवगत करा दिया गया है। अभी पत्रावलियों की जांच होने एवं बैठक होने के बाद सूची चस्पा कर नियुक्ति दी जाएगी।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned