दबंगो ने लाठी डंडे से पुलिस पर बोला हमला, पुलिस कर्मियों ने भागकर बचाई जान, जानिए वजह

भारी पुलिस फोर्स पहुंची तो हमला करने वाले फरार हो गए।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 15 Sep 2020, 04:48 PM IST

कानपुर देहात-जिले के सिकंदरा क्षेत्र के करीमनगर डेरा गांव में एक महिला के साथ हुई मारपीट की जांच करने गई रसधान चौकी पुलिस पर आरोपियों ने हमला बोल दिया। लाठी डंडे लेकर दौड़े आरोपितों को देख पुलिस कर्मियों ने भागकर जान बचाई। घटना देर शाम के अंधेरे में होने के चलते पुलिसकर्मी बच सके। मामले की जानकारी पुलिस के उच्चाधिकारियों को मिलने के बाद मौके पर भारी पुलिस फोर्स पहुंची तो हमला करने वाले फरार हो गए। चौकी इंचार्ज की तहरीर पर 11 नामजद व दर्जनों अज्ञात हमलावरों के खिलाफ गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल पुलिस हमलावरों की तलाश में दबिश देे रही है।

पूरा मामला कानपुर देहात के सिकंदरा क्षेत्र के करीम नगर डेरा गांव का है, जहां बीते एक दिन पहले गांव की महिला मीना देवी के साथ मारपीट हुई थी, जिसकी शिकायत पर रसधान चौकी इंचार्ज धीरेन्द्र पटेल सिपाहियों के साथ जांच करने गांव गए थे। पीड़ित महिला से पूछताछ करने के दौरान काफी संख्या में आरोपित वहां आ धमके और महिला को गाली गलौज करने लगे। जिसका विरोध करने पर आरोपितों ने पुलिस पर लाठी डंडों से हमला बोल दिया। लाठी डंडों का वार होता देख पुलिस कर्मियों ने जैसे तैसे भागकर अपनी जान बचाई। चौकी इंचार्ज ने पूरे मामले की जानकारी पुलिस के वरिष्ठ अफसरों को दी।

जिसके बाद मौके पर पुलिस बल पहुंचने पर आरोपित हमलावर भाग निकले। रसधान चौकी इंचार्ज की तहरीर पर आरोपित अनिल सिंह नायक, जंटर सिंह नायक, राजू सिंह नायक, सुरेश सिंह, धीरू सिंह, उत्तम सिंह नायक, रुकमा देवी, सुनीता देवी, राजू व अनिल सहित करीब 11 नामजद व एक दर्जन अज्ञात हमलावरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। सिकंदरा थानाध्यक्ष रामबहादुर पाल ने बताया कि चौकी इंचार्ज की तहरीर पर पुलिस टीम पर हमला करने वाले आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है, आरोपितों की धर-पकड़ के लिए गांव में छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned