कोरोना से जंग लड़ रहे इस योद्धा की दरियादिली, संक्रमण से बचाने के साथ खिला रहा दाल-रोटी


कोरोना वायरस के चलते नवरात्र पर्व पर शहर के सभी देवी मंदिरों में भक्तों के प्रवेश पर लगी है रोक, घर पर बैठकर दर्शन कर कमाएं पुण्य।

कानपुर। कोरोना को लेकर जहां आम जनमानस भयभीत है वहीं कोरोना को हराने के लिए कुछ लोग जी जान से जुटे हैं। कुछ योद्धा ऐसे भी हैं, जो सीधा कोरोना को हराने के लिए जंग लड़ रहे हैं। इन्हीं में से कारोबारी कमल उत्तम हैं तो दुकान में ताला जड़कर पिछले एक सप्ताह से गरीबों को माॅस्क के अलावा दाल-रोटी और बीमार का खुद के पैसे से इलाज करा रहे हैं।

अब कोई भूखा नहीं सोएगा
कमल उत्तम कहते हैं कि 21 दिन के लाॅकडाउन होने से दिहाड़ी मजदूर, रिक्शा चालक, फैक्ट्रियों में काम करने वाले और झुग्गी झोपड़ियों में जिदगी गुजार रहे लोगों के सामनें विकराल समस्या खड़ी हो गई है। इन लोगों की समस्याओं को देख हमने तय कर लिया कि अब कोई भूखे पेट नहीं सोएगा। घर पर भोजन बनाकर इन्हें खुद देकर आते हैं। साथ माॅस्क के अलावा बीमारों को अस्पताल ले जाकर इलाज करवाते हैं।

अन्य व्यापारी भी साथ में आए
कमल के साथ कानपुर साउथ के दर्जनों व्यापारी भी इस जंग में साथ देने के लिए सड़क पर उतर चुके हैं। सुबह के वक्त अपने-अपने घरों से भोजन लाकर गरीबों को खिलाते हैं और कोरोना से बचाव के उपाए भी बताते हैं। कमल कहते हैं कि भारत वह देश है तो बड़ी से बड़ी समस्या का सामना करने में सक्षम है । देश की 135 करोड़ आवाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर खरे उतरेंगे। घर पर रहकर कोरोना को हराएंगे।

सरकार के दिशानिर्देश का पालन
कमल बताते हैं कि गरीबो को भोजन देते वक्त सरकार के दिशा निर्देश का पूरी तरह से पालन किया जाता था। एक मीटर की दूरी तय करने के बाद ही गरीबों को खाना देते हैं। हमारे अन्य व्यापारी साथी सड़क पर खड़े लोगों को प्यार से कोरोना वायरस के बारे में उन्हें समझाते हैं और तत्काल घर जाने को कहते हैं। कमल बताते हैं कि समय मिलने पर हमलोग अपने-अपने मोहल्लों में जाकर लोगों को एकांतवास रूपी दवा भी बांट रहे है।

इस वजह से सड़क पर उतरे
कमल उत्तम का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गरीबो व मजदूरों को भोजन उपलब्ध कराने की बात कही थी। उनकी बातों से प्रेरित होकर कानपुर साऊथ में कई जगहों पर मजदूरों और गरीब बच्चो को मास्क पहनाने के बाद लंच पैकेट दिए गए है। कमल ने बताया कि यसे मुहिम पूरे 21 दिन तक चलेगी और यदि आगे भी सरकार लाॅकडाउन का फैसला करती है तो हम इसी तरह से गरीबों को मदद करते रहेंगे।

Corona virus Corona Virus treatment coronavirus
Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned