लव-सेक्स के बाद सिपाही ने छात्रा को दिया धोखा , BJP विधायक के गनर पर पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

दो साल से छात्रा का कर रहा था यौनशोषण, शादी की बात पर मुकरा सिपाही

By: Vinod Nigam

Published: 25 Apr 2018, 07:40 PM IST

कानपुर। भाजपा के विधायक महेश द्धिवेदी के गनर पर एक छात्रा ने रेप का आरोप लगाते हुए एसएसपी अखिलेश मीणा को तहरीर दी है। पीड़िता की शिकायत पर एसएसपी ने आरोपी नगर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं। पीड़िता ने बताया कि आरोपी सिपाही दो साल पहले प्रेम के जाल में फंसाया और रेप करता रहा। कईबार सिपाही ने मेरा गर्भपात भी कराया। छात्रा और उसके परिजनों ने शादी का दबाव बनाया तो विधायक का नगर मुकर गया और सत्ता की हनक दिखाते हुए फर्जी मुकदमे में जेल भेजने की धमकी दी। पीड़िता के मुताबिक बुधवार को वह दूसरी लड़की के साथ शादी करने जा रहा था। जानकारी मिलने के बाद मैं एसएसपी से मिली, तब कहीं जाकर न्याय मिल पाया।
प्यार के जाल में फंसाया
नौबस्ता निवासी एक छात्रा दो साल पहले चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए गई थी। इसी दौरान वहां तैनात सिपाही दीपक मिश्रा ने उसका मोबाइन नंबर ले लिया और अपने प्यार के जाल में फंसा लिया। आरोपी सिपाही छात्रा को शादी के सपने दिखाकर उसकी अस्मत के साथ खेलता रहा। दो साल तक पत्नी की तरह रखने के बाद जब छात्रा ने शादी का दबाव बनाया तो वह मुकर गया। पीड़िता का आरोप है कि मैं अपने परिजनों के साथ इसके घर गई और शादी की बात की। लेकिन सिपाही के परिजनों ने दहेज की मांग रख दी। सिपाही ने कहा पहले पंद्रह लाख रूपए की व्यवस्था करो, तब शादी के बारे में सोचों।
आज रचा रहा था शादी
पीड़िता ने बताया कि आरोपी विधायक का नगर बुधवार को शादी करने जा रहा था। मुझे जब इसकी जानकारी हुई तो हमद ीपक मिश्रा के घर पहुंचे। जहां दीपक व उसके परिजनों ने हमें अपशब्द कह कर भगा दिया। हम बर्रा थाने गए, लेकिन आरोपी सिपाही ने फोन कर शिकायत नहीं दर्ज करने का दबाव बनाया। थानेदार ने हमें थाने से भगा दिया। तभी मोहल्ले के एक व्यक्ति ने हमारी दुखभरी कहानी सुनी और तत्काल एसएसपी अखिलेश मीणा से मिलने की सलाह दी। मैं अपने परिजनों के साथ एसएसपी से मिली और सबूतों के साथ विधायक के गनर की करतूत खोली। एसएसपी के आदेश पर बर्रा पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है और पूरे मामले की जांच गोविंदनगर सीओ को दी गई है।
सस्पेंड किया गया सिपाही
मामला रेप का होने के चलते पुलिस ने बिना देरी किए आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की और एसएसपी ने उसे तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया। पुलिस ने मौके पर जाकर शादी का कार्यक्रम रूकवाया और विधायक के गनर को पूछताछ के लिए थाने बुलाया है। पीड़िता ने बताया कि सिपाही जब से भाजपा विधायक महेश द्धिवेदी का गनर तबा तब से सत्ता की हनक दिखाकर हम लोगों को डराता और धमकाता रहा। पीउ़ता ने बताया कि जब से दीपक मिश्रा विधायक का पर्सलन गनर बना तभी से उसने मुझसे दूरियां बनानी शुरू कर दीं। उसने मुझसे कहा था कि अब तुम कोई दूसरा आदमी ढूंढ लो। क्योंकि अब तुम्हारे पास मुझे देने के लिए बचा ही क्या है।
किसी भी वक्त हो सकता है गिरफ्तार
मामला हाईफाई होने के चलते विधायक महेश द्धिवेदी ने भी सिपाही को हटा दिया और उसकी जगह दूसरा गनर की डिमांड पुलिस-प्रशासन से कर दी। पुलिस सूत्रों की मानें तो सिपाही की गिरफ्तारी किसी भी वक्त हो सकती है और उसके खिलाफ पॉस्को एक्ट की धारा भी लगाई जा सकती है। एसएसपी ने बताया कि पीड़िता की शिकायत पर सिपाही को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही बर्रा थाने में उसके खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया है। जांच सीओ गोविंदनगर कर रहे हैं और दोषी पाए जाने पर सिपाही को अरेस्ट कर जेल भेजा जाएगा। साथ ही आरोपी के परिजनों पर भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned