पूर्व सांसद पर सीबीआई ने धोखाधड़ी का मुकदमा किया दर्ज, जानिए किस तरह की करोड़ों की ठगी

सीबीआई ने कानपुर कोतवाली में डेढ़ साल पहले दर्ज एफआईआर को आधार बनाया है।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 12 Apr 2021, 02:01 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. रकम दोगुनी करने एवं जमीन के नाम रुपए निवेश कर करोड़ों की ठगी (Thugi) करने के मामले में तृणमूल कांग्रेस (TMC) के पूर्व सांसद केडी सिंह (EX MP TMC Party) के खिलाफ सीबीआई ने धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज की है। बताया गया कि करोड़ों हड़प करने के बाद कंपनी फरार हो गई थी। सीबीआई ने कानपुर कोतवाली में डेढ़ साल पहले दर्ज एफआईआर को आधार बनाया है। इधर ईओडब्ल्यू कानपुर शाखा भी मामले की जांच कर रही है। दरअसल कानपुर के चकेरी निवासी पवन मिश्रा ने सितंबर 2019 को कोतवाली में धोखाधड़ी की एक एफआईआर दर्ज कराई थी।

एफआईआर में बताया कि एलकेमिस्टल ग्रुप के चेयरमैन केडी सिंह (Ex Mp K.D Singh), कंपनी के निदेशक सतेंद्र कुमार, बृजमोहन, सुचेता खेमका, छत्रसाल, जयश्री प्रकाश, नरेंद्र, नंदकिशोर ने कानपुर में कंपनी का दफ्तर खोला था। चार साल में रकम दो गुनी करने व इसके एवज में जमीन देने का झांसा देकर रकम निवेश कराई। उसके बाद कंपनी पैसे लेकर फरार हो गई। एफआईआर के मुताबिक देशभर में तकरीबन 25 हजार करोड़ रुपये की ठगी की गई। मामले को लेकर एक साल से ईओडब्ल्यू जांच कर रही है।

मामले में केडी सिंह ने अरेस्ट स्टे ले रखा है। मामले में ईओडब्ल्यू की टीम दिल्ली और चंडीगढ़ भी गई थी लेकिन उससे पूछताछ नहीं हो सकी थी। ईओडब्ल्यू एसपी बाबूराम ने बताया कि इस मामले में सीबीआई ने भी एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की है। एसपी ने बताया कि अगर केस से संबंधित कोई जानकारी सीबीआई मांगेगी तो वो उपलब्ध कराएंगे। अपनी जांच भी जारी रखेंगे। कुल मिलाकर आरोपियों पर अब दोहरा शिकंजा कसना शुरू हो गया।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned