जान जोखिम में डाल परिषदीय स्कूल में बच्चे ग्रहण कर रहे शिक्षा, आखिर कब होगा यहां कायाकल्प

Arvind Kumar Verma

Updated: 15 Feb 2020, 10:23:14 AM (IST)

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर देहात-जिले के मुख्य विकास अधिकारी जोगिंदर सिंह भले ही जनपद के सभी विद्यालयों को कायाकल्प के माध्यम से चमकाना चाहते हो, लेकिन जमीनी स्तर पर आज भी कुछ विद्यालय ऐसे हैं जिनका कार्य चालू नहीं हुआ है। जबकि बीते दिनों शासन के निर्देशानुसार जर्जर सरकारी विद्यालयों से बच्चों को सुरक्षित करने के निर्देश दिए गए थे। जिससे पुरानी जर्जर इमारतों के ढहने से कोई बड़ा हादसा न हो जाते। इसके चलते कानपुर देहात के सीडीओ ने विद्यालयों में कायाकल्प योजना के तहत कार्रवाई शुरू कराए, लेकिन कानपुर देहात के तरसौली परिषदीय विद्यालय में आज भी बच्चे जान हथेली पर रख अपने भविष्य की कामना कर रहे हैं।

कानपुर देहात के रसूलाबाद विकासखंड के तरसौली प्राथमिक विद्यालय की छत व दीवारें जर्जर होने के कारण बच्चे अपनी जान जोखिम में डालकर शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इसको लेकर ग्रामीणों व स्कूल के प्रधानाचार्य ने कई बार ग्राम प्रधान व उच्च अधिकारियों से शिकायत की है, लेकिन अभी भी इसका कोई निस्तारण नहीं हुआ है। एक तरफ जनपद के वरिष्ठ अधिकारी स्कूलों में सुंदरीकरण व टाइल्स लगवाने की बात कर रहे हैं और ग्राम प्रधानों को यह भी चेताया जा रहा हैं कि 31 मार्च तक सभी स्कूल में टाइल्स व सुंदरीकरण हो जाये, लेकिन इस विद्यालय में ऐसा कुछ भी नहीं दिख रहा है। स्कूल में न तो अभी कार्य चालू हुआ है और ना ही जर्जर भवन को दुरुस्त कराया गया है। ग्रामीणों के अनुसार अगर स्कूल की ऐसी स्थिति रही तो कभी भी विद्यालय की इमारत गिर सकती है और एक बड़ा हादसा हो सकता है।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned