सिलेंडर से गैस लीक होगी तो मोबाइल पर मिलेगा अलर्ट, रोका जा सकेगा हादसा

कक्षा ११ के छात्र ने इंटरनेट की मदद से तैयार किया एलपीजी प्रोटेक्शन सिस्टम

मोबाइल के लिए पॉवर बैंक भी बना चुके हैं, बीटेक करना चाहते हैं शिवा

कानपुर। एलपीजी गैस सिलेंटर से गैस लीकेज से होने वाले हादसे का नतीजा सब जानते हैं। इन हादसों में होने वाली जन व धनहानि की कल्पना करना मुश्किल है। ऐसे में अगर सिलेंडर से गैस लीक होते ही जानकारी मिल जाए तो होने वाले हादसे को रोका जा सकेगा। मगर अब इसका रास्ता निकल आया है। यह कमाल किया है कन्नौज में रहने वाले कक्षा ११ के छात्र शिवा ने। उसने एक ऐसा सिस्टम तैयार किया है जो सिलेंडर से गैस लीक होते ही आपको जानकारी देगा और वह भी मोबाइल पर।

इंटरनेट की मदद से किया तैयार
कन्नौज के बहादुरपुर जलालपुर पनवारा निवासी रामसागर कटियार के 16 वर्षीय बेटे शिवा ने बिना किसी वैज्ञानिक से ट्रेनिंग लिए यह कमाल किया है। उन्होंने इंटरनेट की मदद से यह सिस्टम बनाया है। शिवा ने बताया कि सिलेंडर लीक से आएदिन हादसे हो रहे हैं। इससे बचाव के लिए काफी समय तक सोचा। इंटरनेट पर खोजबीन की और मॉडल बनाना शुरू कर दिया।

मोबाइल पर मिलेगा अलर्ट
शिवा ने बताया कि गैस सिलेंडर में लीकेज होने पर मोबाइल आपको अलर्ट कर देगा। तुरंत कॉल आएगी और आप होने वाले हादसे को रोक सकेंगे। कानपुर के मंटोरा पब्लिक स्कूल में 11वीं में पढऩे वाले शिवा ने जब एलपीजी प्रोटेक्शन सिस्टम तैयार कर प्रदर्शन किया तो सभी हैरत में पड़ गए। यह सिस्टम देख फिजिक्स के शिक्षक ने उसकी तारीफ की।

दो हजार में तैयार होगा सिस्टम
शिवा ने बताया कि एलपीजी प्रोक्टेक्शन सिस्टम को कम से कम दो हजार रुपए में तैयार किया जा सकेगा। इसमें चार्जर सिस्टम लगा है, यह एक बार चार्ज होने से एक सप्ताह चलेगा। उसी में नौ बोल्ट का बजर और तीन बैट्रियां लगाई गई हैं। चार बोल्ट की दो बैट्री भी लगी हैं। इसके साथ ही एलपीजी सेंसर संग मोबाइल का प्रयोग किया है। मोबाइल से ही दूसरे मोबाइल में कॉल पहुंचती है जिससे हमें पता चल जाता है कि सिलेंडर से गैस लीक हो रही है। इसके साथ ही बॉक्स में रिले ट्रांजिस्टर भी है। इसमें करीब 12 सौ रुपये का खर्च आया है। मोबाइल का खर्चा अलग से होगा।

Show More
आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned