टिकट के दावेदारों से योगी ने क्यों किया किनारा, कौन लड़ेगा जंग

टिकट के दावेदारों से योगी ने क्यों किया किनारा, कौन लड़ेगा जंग

Alok Pandey | Updated: 17 Sep 2019, 11:18:41 AM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

बीते दिवस शक्ति प्रदर्शन में जुटे टिकट के दावेदारों से नहीं मिले योगी
ऐसे में किसी कद्दावर और बाहरी नेता के चुनाव लडऩ के कयास

कानपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर दौरे में गोविंदनगर विधानसभा सीट पर उपचुनाव से पहले सख्त संदेश दे दिया। उन्होंने कानपुर में टिकट के दावेदारों को कोई तवज्जो नहीं दी और सीधे और साफ लफ्जों में कह दिया कि पार्टी जो भी प्रत्याशी तय करेगी, सभी को उसका समर्थन करना होगा। योगी के इस लहजे से टिकट की उम्मीद लगाए बैठे शहर के कई भाजपाई झटका खा गए। शक्ति प्रदर्शन के जरिए अपनी टिकट पक्की कराने की कोशिश में जुटे दावेदारों का उत्साह ठंडा पड़ गया। सीएम ने इन नेताओं की तरफ मुड़कर भी नहीं देखा। योगी के इस रवैए को देखकर यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि पार्टी कि बाहरी कद्दावर नेता को भी गोविंदनगर सीट से उपचुनाव में उतार सकती है।

बेकार गई तैयारी, सीएम ने नहीं दिया ध्यान
गोङ्क्षवदनगर सीट पर उपचुनाव के लिए भाजपा से कई नेताओं ने मुख्यमंत्री के सामने शक्ति प्रदर्शन का सहारा लिया। समर्थकों ने दावेदारों के नाम व फोटो वाली तख्तियां लहराईं, नारे भी खूब लगाए। हालांकि मुख्यमंत्री से उन्हें कोई तवज्जो नहीं मिली। मुख्यमंत्री की सभा के लिए सभी दावेदारों ने भीड़ जुटाने का काम किया था, लेकिन भाजपा दक्षिण के महामंत्री राकेश तिवारी, सांसद सत्यदेव पचौरी के पुत्र अनूप पचौरी, आनंद राजपाल, जीत प्रताप सिंह और मनोज सिंह अपने समर्थकों के साथ अलग नजर आ रहे थे। इनके समर्थकों के हाथ में इन लोगों के नाम और फोटो वाली तख्तियां थीं। मंच पर बैठे सीएम ने सभी से मुंह मोड़ लिया। समर्थकों को शायद अहसास हो गया कि मुख्यमंत्री को यह सब पसंद नहीं आया। इसलिए वे भी शांत बैठ गए। टिकट के दावेदारों में क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह, उत्तर जिलाध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी, निर्मल तिवारी, रीता शास्त्री, रवींद्र पाटनी, पूर्व विधायक नीरज चतुर्वेदी आदि भी मैदान पर पूरी तैयाीर से आए थे।

प्रत्याशी कोई भी हो, चुनाव सिर्फ कमल लड़ेगा
कार्यक्रम में सभा को संबोधित करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्रीन रूम में प्रमुख नेताओं के साथ बैठक की। इसमें गोङ्क्षवदनगर विधानसभा क्षेत्र से जुड़े पार्टी पदाधिकारियों के अलावा प्रदेश स्तरीय पदाधिकारी शामिल थे, जिन्हें उपचुनाव में लगाया गया है। सीएम ने अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश सचिव फैजल सिद्दीकी ने चुनावी तैयारी के बारे में जानकारी मांगी। सीएम ने साफ-साफ कहा कि पार्टी जिसे प्रत्याशी तय करेगी, उसे पूरी ताकत के साथ चुनाव लड़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह काम संगठन को करना है। टिकट भले ही किसी को मिले पर चुनाव केवल कमल के निशान पर लड़ा जाएगा। सीएम के इस इशारे ने इन चर्चाओं को भी बल दे दिया है कि शायद पार्टी किसी बाहरी नेता को भी चुनाव में उतार सकती है, ताकि स्थानीय स्तर पर खींचतान शुरू न हो सके।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned