प्रजा को कोराना से बचाने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ का ‘रतजगा’

गोविंद नगर से बीजेपी विधायक ने कहा कि कोरोना पर जीत के लिए दिनरात कार्य कर रहे सूबे के मुखिया, गरीबों को मिल रही हर सुविधा, 14 अप्रैल तक घर रहे प्रदेश की जनता।

By: Vinod Nigam

Published: 31 Mar 2020, 09:01 AM IST

कानपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण से उत्तर प्रदेश की जनता को बचाने के लिए नवरात्र में वृत के दौरान सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ प्रतिदिन 20 से 22 घंटे ड्यूटी कर रहे हैं। महज दो से तीन घंटे ही वह सोते हैं और किलर कोरोना के खात्में के लिए जनपदों के अलाधिकारियों के अलावा जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर जनसमस्याओं के निराकरण के लिए आदेश देते हैं। वह पार्टी के मंत्री, सांसद, विधायक व पदाधिकारियों से जमीनी हकीकत से रूबरू होते हैं और कोई भूखा न सोए इसके लिए सभी को सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को कहते हैं।

लाॅकडाउन का हो रहा पालन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लाॅकडाउन के ऐलान के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने खुद कमान संभाली। पहले दो दिन भीड़ सकड़ों पर दिखी, लेकिन सीएम ने इसका तोड़ निकाल लिया। जिलों के डीएम व पुलिस के अलाधिकारियों को आदेशर दिए कि हर व्यक्ति के घर पर खाद्य समाग्री पहुंचे। मेडिकल स्टोर, बैंक, किराना की दुकानों के साथ ही बीजेपी के मंत्री, सांसद, विधायक व कार्यकर्ताओं को गरीबों को भोजन उपलब्ध कराने को कहा। जिसका असर रहा कि अब लोग बेवजह घरों से बाहर नहीं निकलते।

सीएम फोनकर लेते हैं जानकारी
बीजेपी विधायक सुरेंद्र मैथानी बताते हैं कि खुद सीएम योगी आदित्यनाथ फोनकर जमीनी हकीकत की जानकारी लेते हैं। विधायक ने बताया कि नवरात्र पर्व पर सीएम वृत पर हैं। बिना भोजन को वह 20 से 21 घंटे कार्य करते हैं। सुबह चार बजे जगने के बाद स्नान-ध्यान के साथ ही पूजा करते हैं। इसके बाद जिले के अलाधिकारियों से कोरोना को लेकर चर्चा करते हैं। इसी का नतीजा है कि देश का सबसे ज्यादा आबादी वाले प्रदेश में कोरोना के मामले बहुत कम हैं। जबकि 40 लाख जनसंख्या वाले शहर कानपुर में एक पाॅजीटिव मरीज का इलाज डाॅक्टर कर रहे हैं।

मनरेगा मजदूरों को राहत
बीजेपी विधायक ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते देशभर में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन है। इन हालात में उत्तरप्रदेश के गरीब मजदूरों को सीएम योगी आदित्यनाथ ने बड़ी राहत दी है। प्रदेश के ं 27.15 लाख मनरेगा मजदूरों के बैंक खातों में सीधे 611 करोड़ रुपये ऑनलाइन ट्रांसफर कर दिए हैं। विधायक ने बताया कि इसस पहले प्रदेश सरकार ने गरीबों के खाता में हजार-हजार रुपया की धनराशि ट्रांसफर कर चुकी है। कानपुर मंडल के करीब दो लाख से ज्यादा मजदूरों के खातों में ये रकम पहुंच चुकी हैं। बताया प्रदेश सरकार की तरफ से प्रति श्रमिक महीना में 2250 रुपया प्रदान किया जा रहा है।

मजदूरों को भेजा जा रहा उनके गांव
विधायक सुरेंद्र मैथानी ने बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमण पर रोक लगाने के प्रयास करने के साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ ने पलायन रोकने के लिए यूपी में अन्य राज्यों से सटी सीमाओं पर विशेष इंतजाम किए हैं। शनिवार व रविवार को सैकड़ों की संख्या में मजदूर कानपुर के झकरकटी बस अड्डे पर पहुंच गए थे। सभी को भरपेट भोजन कराया गया। उनके रहने की व्यवस्था कराई गई। बीमार का इलाज भी हुआ। इसके अलावा बसों व अन्य वाहनों के जरिए मजदूरों का मेडिकल चेकअप के बाद उनके प्ैतृक गांव भेजा जा रहा है।

निशुल्क राशन
बीजेपी विधायक ने बताया कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने अन्त्योदय योजना, मनरेगा और श्रम विभाग में पंजीकृत करीब 1 करोड़ 65 लाख 31 हजार मजदूर को एक महीने का निशुल्क राशन दिए जाने के आदेश दिए हैं। इन परिवारों को 20 किलो गेहूं, 15 किलो चावल मुफ्त मिलेगा। इसके अलावा पेंशन का लाभ उठा रहे 83.83 लाख लोगों को दो महीने की अग्रिम पेंशन भी दी जा रही है। जनधन योजना में जिन महिला लाभार्थियों के खाते हैं, उन सभी को 500 रुपये प्रतिमाह अतिरिक्त धनराशि मिलनी शुरू हो गई है।

हारेगा कोरोना
विधायक ने कहा, सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बीजपी सरकार कोरोना महामारी से बचाने और प्रदेश के उत्तम स्वास्थ्य, सुरक्षित भविष्य के लिए सराहनीय कार्य कर रही है। बताया, बीजेपी के सभी जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्रों में स्वता के पैसे से गरीबों के लिए भोजन की व्यवस्था करा गली-मोहल्ले, झुग्गी झोपड़ियों में पहुंचा रहे हैं। विधायक ने बताया कि वह खुद अपने घर से हररोज सौ से ज्यादा भोजन के पैकेट लेकर अकेले पैदल गलियों में जाकर लोगों को भोलन उपलब्ध करा रहे हैं। इसके अलावा अपने पैसे से हरदिन सैकड़ों लोगों के भोजन की व्यवस्था भी कराई है। विधायक ने लोगों से अपील की वह अपने घरों पर रहें और कोरोना पर जीत में अपना योगदान दें।

coronavirus
Show More
Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned