CM के आदेश का इस महिला IPS पर नहीं असर

Vinod Nigam

Updated: 14 Jun 2019, 11:52:31 AM (IST)

Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

कानपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश के बाद कानपुर डीएम विजय विश्वास ने जिलें में पॉलीथिन के प्रयोग पर पूर्णतया पाबंदी लगा दी। साथ ही इसके रोकथाम और छापेमारी के लिए 32 टीमों का गठन किया। मंगलवार से टीमें ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में प्रतिबंधित पॉलीथिन के सम्बंध में वृहद अभियान चलाया हुआ है। लेकिन टीम की नजर साउथ की एसपी रवीना त्यागी पर नहीं पड़ी। वो खुलेआम लोगों को प्लॉस्टिक के गिलाश पर शरबत वितरण करती रहीं। इतना ही नहीं ब्लॉस्टिक की कटोरी में प्रसाद भी बांटा।

4 लाख वसूले
सीएम के आदेश के बाद 32 टीमें लगातार प्रतिबंधित पॉलीथिन के खिलाफ सघन चेकिंग अभियान छेड़ा हुआ है। मंगलवार को टीम ने 2312.245 किलो ग्राम प्रतिबंधित पालीथिन जप्त की गई और 2 लाख 45 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया। जबकि गुरूवार को 190 किलो 640 ग्राम प्रतिबंधित पालीथिन जप्त कर 2 लाख 12 हजार 200 रुपये का जुर्माना वसूला गया। वहीं थाने में लोगों के लिए शरबत वितरण का कार्यक्रम एसपी साउथ रवीना त्यागी ने रखा। प्रतिबंधित प्लॉस्टिक के गिलाश में लोगों को शर्बत तो कटोरी में प्रसाद दिया। पूछने पर उन्होंने इस पर बोलने से इंकार कर दिया।

ऐसा भेदभाव क्यों
व्यापारी राजीव गुप्ता कहते हैं कि टीमें सिर्फ करोबारियों और दुकानदारों पर जुर्माना वसूल रही हैं। जबकि आज भी पुलिस, प्रशासन और भाजपा के अधिकतर कार्यक्रम में प्लॉस्टिक से बनें सामान का इस्तेमाल किया जा रहा है। कहा, एसपी रवीना त्यागी के अलावा केंद्रीय मंत्री निरंजन ज्योति के गंगा आरती के साथ ही डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम में लोगों को प्लास्टिक के गिलाश में पानी दिया गया। जिलाप्रशासन अधिकारियों और जन्रपतिनिधियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहा। सिर्फ हम जैसे लोगों को परेशान कर रहा है।

ये रही जुर्माने की लिस्ट
डीएम ने प्लास्टिक, कैरी बैग, एक बार उपयोग के पश्चात निस्तारण योग्य कप, गिलास, प्लेट, चम्मच, थर्माकाल के बर्तनों के विक्रय और भंडारण पर कार्रवाई क के आदेशर दिए हुए हैं। दुकानदार द्वारा इसका प्रयोग होता पाए जाने पर जुमाना वसूला जा रहा है। प्रतिबंधित पालीथिन 100 ग्राम से 101 ग्राम प्राप्त होने पर 1000 रुपये जुर्माना, 101 ग्राम से 500 ग्राम पर 2000 रुपये, 501 ग्राम से एक किलोग्राम तक 5000 रुपये, एक किलोग्राम से 5 किलोग्राम तक 10,000 रुपये, जबकि 5 किलो से अधिक होने पर 25,000 रुपये तक का जुर्माना लिया जा रहा है। प्रतिबंधित थर्माकाल के बर्तन, प्लास्टिक के बर्तन पर भी चालान करते हुए जुर्माना लगाया जा रहा है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned