चित्रकूट में करारी हार के बाद बीजेपी ने कस ली कमर, सीएम योगी को मिली ये बड़ी जिम्मेदारी

Akanksha Singh

Publish: Nov, 15 2017 12:40:38 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
चित्रकूट में करारी हार के बाद बीजेपी ने कस ली कमर, सीएम योगी को मिली ये बड़ी जिम्मेदारी

लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानपुर से शंखदान रैली कर अपने चुनाव प्रचार का आगाज किया।

कानपुर. लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कानपुर से शंखदान रैली कर अपने चुनाव प्रचार का आगाज किया। इसी के बाद देश में भाजपा की सरकार बनी। 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले संघ प्रमुख मोहन भागवत बिठूर में आठ दिन रूककर भजपा के लिए जमीन तैयार की और बृजेंद्र रूवरूप पार्क से अमित शाह ने दलित सम्मेलन कर कमल खिलाने के लिए रणनीति बनाई थी। जनता ने प्रचंड बहुमत से योगी आदित्यनाथा को सत्ता सौंप दी। लेकिन चित्रकूट विधानसभा चुनाव के बाद सीएम लोकल बॉडी का चुनाव हर हाल में जीतना चाहते हैं और इसी के चलते अयोध्या के बाद कानपुर में एक जनसभा को संबोधित करने के लिए आ रहे हैं।


पहले एग्जाम के लिए सीएम एक्शन में


उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई। आठ माह के कार्यकाल के बाद योगी सरकार के लिए पहली परीक्षा आ खड़ी हुई है। उन्हें लोकल बॉडी के चुनाव में भगवा फहराने के लिए कड़ी मशक्क्त करनी पड़ रही है। भाजपा रणनीतिकार चित्रकूट चुनाव हारने के बाद बैकफुट में हैं, इसी के चलते सीएम ने मिशन 2017 के तहत लखनऊ से निकल कर शहरों, कस्बों में जाकर सभाएं कर रहे हैं। भाजपा लोकल बॉडी का चुनाव जीतने के लिए नए-नए पैंतरे अपना रही है जैसे कि कई स्टार प्रचारक अपनी रैलियों को तय समय से पहले ही करने वाले हैं। भाजपा निकाय चुनाव में टिकट बंटवारे में नाराज कार्यकर्ताओं को भी साधने के लिए नई योजनाएं बना रही है।


नोटबंदी और जीएसटी के चलते भाजपाई डरे


विरोधी दलों ने साढ़े तीन साल की मोदी और आठ माह की योगी सरकार को असफल बताते हुए जनता के पास जा रहे हैं। जहां उन्हें जनता का भरपूर साथ मिल रहा है। इसी के कारण भाजपा तेजी से इसकी भरपाई करने जुट गई है। पार्टी के पदाधिकारियों ने रणनीति बदली है। मतदाताओं के अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं को खुश करने पर भी फोकस कर रही है। मंगलवार से पार्टी एक के बाद एक कार्यक्रम करके पार्टी अपनी अपनी छवि बेहतर बनाने की कोशिश करेगी। जिसमें सीएम और डिप्टी सीएम के बाद अब प्रदेश प्रभारी ओम माथुर भी कानपुर में मोर्चा संभालेंगे। 22 नवंबर से पहले यूपी सरकार के कई मंत्री व संगठन के लोग कानपुर में डेरा जमाए रखेंगे।


छात्र नेताओं के साथ चर्चा


उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने मंगलवार को छात्र नेताओं के साथ बैठक की। डिप्टी सीएम पूर्व और वर्तमान छात्र नेताओं के अलावा उन युवाओं से भी मिले जो आने वाले समय में राजनीति के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाना चाहते हैं। कहा कि महानगरों और छोटे शहरों में विकास में तेजी लाने के लिए जरूरी है कि स्थानीय स्तर पर चुनी जाने वाली सरकार भी भाजपा की हो। ऐसा होने पर ही योजनाओं का सही तरीके से क्रियान्वयन हो सकता है। इसके लिए छात्र नेताओं को भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने की जरूरत है। करीब एक घंटे तक चली बैठक में महापौर के साथ पार्षद प्रत्याशियों की जीत का गणित भी लगाया गया। इस मौके पर बीएनडी कॉलेज, हरसहाय कॉलेज, डीएवी कॉलेज, कानपुर विश्वविद्यालय, डीबीएस कॉलेज, एसडी कॉलेज, क्राइस्ट चर्च, डीजी पीजी कॉलेज, पीपीएन, एसएन सेन कॉलेज सहित सभी प्रमुख कॉलेजों के छात्र नेता मौजूद रहे।


संगठन मंत्री ने संभाली कमान


लोकल बॉडी में भगवा फहराने के लिए जहां आज सीएम आ रहे हैं तो वहीं संगठन से जुड़े कद्दावर नेता शहर में ढेरा जमाए हुए हैं। प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने अलग-अलग बैठकों में पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को रणनीति समझाई। साथ ही कहा कि पार्टी का विरोध कर चुनाव लड़ने वालों के साथ ही उन्हें हवा देने वालों और उनके बॉस को चिह्नित कर बेनकाब करें। उन्होंने पार्टी का विरोध कर चुनाव लड़ने वालों को मनाने के लिए एक दर्जन नेताओं को लगाया है। साथ ही भाजपा को हराने के लिए जुटे भाजपाईयों की लिस्ट बनाने के लिए स्थानीय नेताओं से कहा है। उन पर पार्टी कार्रवाई करेगी। बंसल ने पार्टीजनों को अब सिर्फ बूथ पर लग जाने की नसीहत दी।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned