सीएम योगी और मंत्री गडकरी लगाएंगे चौपाल, मां गंगा के जल को निर्मल का बनेगा प्लॉन

Vinod Nigam | Publish: Aug, 13 2018 07:01:01 AM (IST) Kanpur, Uttar Pradesh, India


पहली बार आ रहे कई दिग्गज नेता, सीएम के निरीक्षण के चलते अधिकारी खौफजदा, तीन दिन से जुटी सरकारी मशीनरी

कानपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी के साथ ही डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या केंद्रीय मंत्री उमाभारती और सांसद डॉक्टर मुरली मनोहर सोमवार को नमामि गंगे योजना की नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के समारोह में शामिल होने के लिए सोमवार को कानपुर आ रहे हैं। सीएम व केंद्रीय मत्री हेलीकाप्टर से उतरने के बाद कार के जरिए सीएसए पहुंचेगे और शहर के 20 गंगा घाटों का यहीं से लोकापर्ण करेंगे। साथ ही मुख्यमंत्री व केंद्रीस मंत्री इनमें से किसी एक घाट पर जाकर निरीक्षण भी कर सकते हैं। इसी के चलते पिछले तीन दिन से पूरी सरकारी मशीनरी तैयारियों में जुटी रही। सुबह से शाम तक अफसर व्यवस्थाओं को चाक चौबंद करते रहे। बारिश के बाद मुख्यमंत्री के रूट पर टूटी सड़कों व गड्ढों पर मरम्मत रविवार की देररात तक जारी रही।

छह घंटे तक रहेंगे मुख्यंमत्री
नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा के तहत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या के अलावा मंत्रिमंडल के कई मंत्रियों के साथ सोमवार को कानपुर पहुंचेंगे। वो यहां करीब छह घंटे तक रूकेंगे और कानपुर मंडल के अलावा मेरठ, बनारस, इलाहाबाद के अधिकारियों के साथ बैठक कर विकास कार्यो की समीक्षा करेंगे। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, मंत्री उमाभारती सांसद डॉक्टर मुरली मनोहर जोशी सहित कानपुर-बुंदेलखंड परिक्षेत्र के सभी मंत्री, सांसद, विधायक और संगठन से जुड़े पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। सीएसए परिसर में करीब पांच हजार लोगों की बैठने की व्यवस्था की गई है। यहां पर गंगा अभियान से जुड़े लोग, संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी बुलाया गया है।

इन घाटों का करेंगे शिलान्यास
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी सीएसए परिसर से कानुपर के 11 व बिठूर के नौ गंगा घाटों का शिलान्यास करेंगे। इनमें से भैरोघाट, मैगजीन घाट, परमट घाट, सरसैया घाट, गुप्तार घाट, भगवतदास घाट, गोला घाट, मेस्कर घाट, कोयला घाट, सिद्धनाथ घाट के अलावा बिठूर के पत्थर घाट, बरादरी घाट, तुलसीराम घाट, ब्रह्मावर्त घाट, छप्पर घाट, पांडु घाट, भरत घाट, सीता घाट, भैरोघाट, कौशल्या घाट शामिल हैं। सरकारी महकमें ने सभी घाटों कें नए लुक में डाला है। इस दौरान एक बड़ी स्क्रीन में इन घाटों को दिखाया जाएगा। मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री इनमें से किसी भी एक घाट का निरीक्षण कर सकते हैं। जिलाप्रशासन की तैयारियों की मानें तो दोनों नेताओं का काफिला परमट घाट के साथ ही सीसामऊ नाले जा सकता है।

छह जिलों के अधिकारियों के साथ बैठक
मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री सीएसए के बाद केडीए सभागार में नमामि गंगे के कामों की समीक्षा करेंगे। यहां पर प्रदेश के छह शहर, जिनमें कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, गाजियाबाद, मुरादाबाद व मथुरा के अधिकारी बैठक में मौजूद रहेंगे। यहां पर मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री में चल रहे नमामि गंगे के एक-एक कामों की जानकारी लेंगे। अफसरों के साथ ही काम कर रहे ठेकेदारों को भी बुलाया गया है। इसके बाद मुख्यमंत्री का काफिला मोतीझील पहुंचेगा और वो यहां में क्यॉस्क का लोकार्पण करेगे। इसमें क्यॉस्क की टच स्क्रीन के जरिये आवंटी प्रॉपर्टी की डिटेल, रसीद गुम होने पर चेकिंग और रसीद को ऑनलाइन लोड कर सकेंगे। उपाध्यक्ष सौम्या अग्रवाल ने बताया कि नई योजनाओं का लेखा-जोखा है पुरानी का चढ़ाया जा रहा है। एलईडी वाल के उद्घाटन की भी तैयारी कराई जा रही है। इसके लिए नगर निगम से अनापत्ति प्रमाण पत्र लिया जाना है।

पूरी रात जुटी रही सरकारी मशीनरी
मुख्यमंत्री के साथ केंद्रीय मंत्री के अलावा कई नेताओं के आने के चलते सरकारी मशीनरी रविवार की देररात तक काम में जुटी रही। रविवार को मंडलायुक्त सुभाष चंद्र शर्मा और डीएम विजय विश्वास पंत ने चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय परिसर में प्रस्तावित सभा स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने पंडाल को देखा, साथ ही कार्यकर्ता और अफसर किन रास्तों से आएंगे, इसका निर्धारण किया। मुख्यमंत्री व अन्य मंत्री विश्वविद्यालय से केडीए पहुंचेंगे। ऐसे में केडीए तक के मार्ग को चमकाया गया। डिवाइडर की पेंटिंग की गई और सड़कों पर पैचवर्क किय गया। इस दौरान छह सौ से अधिक मजदूर झाड़ू लगाने, कूड़ा उठाने और पैचवर्क आदि कायरें में लगाए गए। देररात डीएम ने एसएसपी अखिलेश कुमार के साथ विश्वविद्यालय परिसर में सुरक्षा तैयारियों की समीक्षा की। कौन पुलिसकर्मी व मजिस्ट्रेट कहा तैनात होगा यह तय किया।

...तो सपाई सौंपेगे ज्ञापन
सपा महानगर के प्रमुख नेताओं और कार्यकर्ताओं की बैठक रविवार को नवीन मार्केट स्थित पार्टी कार्यालय में हुई। इसमें महानगर अध्यक्ष अब्दुल मुईन खां ने कहा कि 13 अगस्त को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानपुर आ रहे हैं। सपा मूलभूत सुविधाओं और बाढ़ से बेघर हुए गरीबों को प्रधानमंत्री आवास दिलाए जाने की मांग उनसे करेगी। इसके लिए पार्टी का प्रतिनिधिमंडल प्रातः दस बजे पार्टी कार्यालय से ज्ञापन देने के लिए रवाना होगा। वहीं कांग्रेस नगर अध्यक्ष ने बताया कि जहां-जहां मुख्यमंत्री का काफिला जाएगा, वहां-वहां कांग्रेस के कार्यकर्ता उन्हें काले झंडे दिखाएंगे। नगर अध्यक्ष हरिप्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि प्रदेश में अपराध चरम पर है। मां गंगा पिछले चार साल से दर्द से कराह रही है, पर इसके पहले कभी मुख्यमंत्री व मंत्रियों ने सुधि नहीं ली। चुनाव आते देख भाजपा को श्रीराम, गंगा और गाय याद आने लगती है।

Ad Block is Banned