कोरोना संक्रमित जिला जज को भी अस्पताल में नही मिला इलाज, सीएमओ सहित लिफ्ट में फंसे, फिर जो हुआ

अस्पताल के हालात यूं रहे कि पहले तो दोनो लोग लिफ्ट में फंस गए। जैसे तैसे वहां से निकले तो अस्पताल प्रशासन से कोई उनके हाल भी लेने नही पहुंचा।

By: Arvind Kumar Verma

Updated: 22 Apr 2021, 01:58 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. कोरोना महामारी (Corona Virus) के चलते अब हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। दूसरी तरफ बदहाल स्वास्थ सेवाओं की वजह से लोगों की मौतें भी हो रही हैं। यहां तक कि आम जनमानस से लेकर खास लोगों को भी अस्पतालों में समय से इलाज नहीं मिल रहा है। ऐसा ही मामला कानपुर के सामने आया, जहां कानपुर के जिला जज (District Judge Kanpur) के संक्रमित होने के बाद उन्हे भी कानपुर के पनकी स्थित निजी अस्पताल में इलाज भी मिला। दरअसल बुधवार को कोरोना से संक्रमित जिला जज को सीएमओ अनिल कुमार मिश्रा (CMO Kanpur) पनकी के नारायणा हॉस्पिटल (Narayana Hospital) में भर्ती कराने के लिए लेकर पहुंचे।

अस्पताल के हालात यूं रहे कि पहले तो दोनो लोग लिफ्ट में फंस गए। जैसे तैसे वहां से निकले तो अस्पताल प्रशासन से कोई उनके हाल भी लेने नही पहुंचा। सूचना भिजवाने के बावजूद कोई नही आया। अस्पताल में मौजूद कई लोगों ने अस्पताल की अव्यवस्थाओं के बारे में सीएमओ अनिल मिश्रा को बताया। बोले यहां कंपाउंडर के भरोसे इलाज होता है। नाराजगी व्यक्त करते हुए सीएमओ ने हॉस्पिटल प्रबंधन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। दरअसल जिला जज 18 अप्रैल से संक्रमित हैं।

बुधवार को जिला जज सीएमएम और सीएमओ के साथ हॉस्पिटल प्रबंधक अमित नारायण को फोन पर सूचना देने के बाद नारायणा अस्पताल पहुंचे। जहां वह बहुत देर तक लिफ्ट में ही फंसे रहे। लिफ्ट से निकलने के बाद भी कोई भी डॉक्टर अटेंड करने के लिए नहीं मिला। फिलहाल उन्हें बाद में चांदनी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। सीएमओ ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ पनकी थाने में एफआईआर दर्ज कराई। सूचना पर पनकी थाने पहुंचे डीसीपी वेस्ट संजीव त्यागी ने मामले की जांच की। उनके मुताबिक सीएमओ की तहरीर पर पुलिस ने नारायणा हॉस्पिटल के प्रबंधक अमित नारायण त्रिवेदी और ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर और कर्मचारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

Corona virus
Show More
Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned