विश्वविद्यालय की गलती से हजारों छात्रों के भविष्य पर आया संकट

विश्वविद्यालय की गलती से हजारों छात्रों के भविष्य पर आया संकट

Alok Pandey | Updated: 15 Aug 2019, 12:01:36 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

परीक्षाओं और रिजल्ट की देरी से एमएड में छात्रों को नहीं मिला प्रवेश
बिना प्रवेश परीक्षा के विवि ने सीधे दाखिला देने से किया इंकार

कानपुर। कई महाविद्यालयों में एमएड की सीटें खाली होने पर भी छत्रपति शाहू जी महाराज विश्वविद्यालय से संबद्ध हजारों छात्र इस साल एमएड में एडमिशन नहीं ले पाएंगे। विश्वविद्यालय की गलती से हजारों छात्रों का भविष्य अधर में लटक गया है। सीएसजेएमयू से संबद्ध महाविद्यालयों से बीएड करने वाले छात्रों को विश्वविद्यालय प्रशासन की भूल का खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

लेटलतीफी बनी वजह
अपने भविष्य पर आए संकट के लिए छात्रों ने सीधे-सीधे विश्वविद्यालय प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है। छात्रों का आरोप है कि विश्वविद्यालय ने उनकी परीक्षाएं कराई और परिणाम भी देर से जारी किया गया। इसके चलते उनका एक साल बर्बाद हो रहा है। जून में हुई एमएड प्रवेश परीक्षा में छात्र इसलिए नहीं बैठ पाए क्योंकि रिजल्ट ही परीक्षा बीत जाने के बाद जारी किया गया।

सीधे दाखिला भी नहीं मिला
गलती करने के बावजूद सीएसजेएमयू छात्रों को किसी प्रकार की राहत देने के लिए तैयार है। विवि की गलती से रिजल्ट लेट हुआ तो छात्र प्रवेश परीक्षा नहीं दे सके। ऐसे में छात्रों ने सीधे दाखिले की मांग की तो उसे भी विश्वविद्यालय प्रशासन ने सिरे से खारिज कर दिया। तर्क दिया कि एमएड में वही छात्र दाखिला ले सकता है जिसने प्रवेश परीक्षा दी हो। ऐसे में इन छात्रों को इस बार एडमिशन नहीं दिया जा सकता है।

नियम का दिया हवाला
इस मामले पर रजिस्ट्रार डॉ. विनोद कुमार सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय के अध्यादेश में यह स्पष्ट है कि कोई भी अपीयरिंग छात्र एमएड की प्रवेश परीक्षा में शामिल नहीं हो सकता। छात्र मांग कर रहे हैं कि इस नियम को बदला जाए। इस पर विचार करके आगे कोई फैसला लिया जाएगा। फिलहाल पूर्व नियम के तहत ही कार्य होंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned