पुलिस के लिए सिरदर्द बना ये गब्बर, दोनों हाथों से चलाता है पिस्टल

Vinod Nigam | Updated: 06 Oct 2019, 08:38:41 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India


जेल से पेशी के लिए आया शातिर पुलिस को चकमा देकर हो गया था फरार, एसएसपी ने स्वाट के साथ पुलिस की लगाई कई टीमें।

कानपुर। तीन दिन पहले जेल से पेशी के लिए लाया गया कैदी विक्की पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था। एसएसपी अनंत देव तिवारी मौके पर जाकर खुद जांच पड़लाल की और बंदी को लेकर आए दोनों सिपाहियों को सस्पेंड कर शातिर बदमाश को दबोचने के लिए पुलिस की टीमें लगाई थीं, लेकिन वह हाथ नहीं लगा। फरार आरोपी दोनों हाथ में पिस्टल लेकर चलता था और पैसे लेकर लोगों की हत्या करता था।

2015 से जेल में था बंद
नौबस्ता थानाक्षेत्र निवासी विक्की सोनी को पुलिस ने 2015 में हत्या के मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा था। शुक्रवार को उसे जेल से कोर्ट पेशी के लिए लाया गया था। सिपाही जितेंद्र मिश्र व सतेन्द्र कुमार उसे तकरीबन एक बजे दो अन्य कैदियों के साथ कचेहरी हवालात से कोर्ट ले गए। कोर्ट में पेशी के बाद लौटते वक्त दोनों सिपाही विक्की को एक वकील के चैम्बर पर ले गए। इसी दौरान विक्की पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था।

स्वाट को लगाया
एसएसपी अनंतदेव ने बदमाश को पकड़ने के लिए स्वाट टीम को लगाया, लेकिन शातिर हाथ नहीं लगा। स्वाट के साथ नौबस्ता पुलिस ने मिलाई करने गए करीबी साथी बिधनू के पहाड़पुर स्थित द्विवेदी पेट्रोल पंप मालिक के बेटे हर्ष, खाड़ेपुर निवासी रोहित बहेलिया, गल्लामंडी निवासी गोल्डी समेत 11 लोगों को उठाया है। हालांकि अभी तक बंदी का सुराग नहीं लग सका है। टीम ने हर्ष के पेट्रोल पंप से विक्की के साथ हत्या में नामजद रामजी की नीले रंग की बिना नंबर की स्विफ्ट डिजायर कार भी बरामद की है।

इनका नाम आया सामने
पुलिस सूत्रों के मुताबिक विक्की के फरार होने से कुछ घंटे पहले ही हर्ष और रामजी उससे मिलने पहुंचे थे। माना जा रहा है कि उसके फरार होने में हर्ष और विक्की की अहम भूमिका है। हर्ष तो पुलिस के हत्थे चढ़ गया लेकिन रामजी का सुराग नहीं लगा है। पुलिस उसकी तलाश में ताबड़तोड़ दबिश दे रही है। एसएसपी अनंतदेव ने नौबस्ता थाने पहुंचकर हर्ष और उसके साथियों से पूछताछ की।

रोहित को उतारा था मौत के घाट
विक्की ने इटली मेड पिस्टल के जरिए 29 अक्टूबर 2015 में आवास विकास हंसपुरम में कुशवाहा होटल के पास रोहित भदौरिया से गोली मारकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने हत्या के आरोप में ं 10 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की थी। नामजद आरोपितों में रोहित बहेलिया और रामजी भी थे। दोनों विक्की के साथ जेल में बंद थे। कुछ समय पहले दोनों जमानत पर छूटे हैं। पुलिस सूत्रों की मानें तो विक्की इटली मेड पिस्टल दोनों हाथों मे खुलेआम लेकर चलता था। क्षेत्र में उसकी दहशत थी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned