बार-बार मारपीट करने वाले चार छात्रों पर सीएसए ने की बड़ी कार्रवाई

बार-बार मारपीट करने वाले चार छात्रों पर सीएसए ने की बड़ी कार्रवाई

Alok Pandey | Updated: 13 Sep 2019, 02:26:53 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

दो छात्रों को विश्वविद्यालय से किया निष्कासित और दो किए गए हॉस्टल से बाहर
आरोपियों के साथ जो भी छात्र दिखेगा उस पर भी की जाएगी कड़ी कार्रवाई

कानपुर। रैगिंग और मारपीट के लिए बदनाम हो चुके कानपुर के चंद्रशेखर कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय ने इस पर रोक लगाने के लिए सख्त रुख अपनाया है। जिसका नतीजा सामने आ गया। सीएसए ने 20 अगस्त की रात ए-ब्लाक में मारपीट करने वाले चार बवाली छात्रों में दो को विश्वविद्यालय से निष्कासित कर दिया गया है, जबकि दो अन्य छात्रों को पूरी पढ़ाई के दौरान हास्टल से बाहर किया गया है। चारों पर पुलिस ने शांति भंग की कार्रवाई की थी।

अनुशासन समिति ने दिया फैसला
अनुशासन समिति की बैठक के बाद कुलपति ने कार्रवाई पर अपनी सहमति दे दी। विवि के अधिकारियों के मुताबिक 20 अगस्त की घटना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। जिसके तहत चार छात्रों को दंडित किया गया है। इन छात्रों का रिकॉर्ड देखा गया है उस आधार पर कार्रवाई की गई है। यह छात्र कई बार मारपीट में आरोपित पाए गए हैं। विश्वविद्यालय से निष्कासित दो छात्रों में शैलेन्द्र पाल सिंह और दिनेश सिंह शामिल हैं। इन छात्रों को वर्ष 2019-20 में पठन-पाठन पर पूरी तरह रोक लगाई गई है। दो अन्य छात्रों अभिषेक कुमार एवं विकास कुमार को हास्टल से निष्कासित किया गया है। छात्रों से कहा गया है कि अगर वह हास्टल में दिखे तो उन्हें पूरे शैक्षिक सत्र से निष्कासित कर दिया जाएगा।

मददगार भी होंगे दंडित
सीएसए प्रशासन ने साफ कहा है कि जो छात्र इन आरोपितों को हास्टल में शरण देंगे उन छात्रों पर भी कार्रवाई करने की बात कही गई है। दोनों छात्र डिग्री मिलने तक चरित्र परवीक्षा में रहेंगे यानी उन पर नजर रहेगी। डीन छात्र कल्याण डॉ. हरेश प्रताप सिंह का कहना है कि छात्रों पर लगे आरोप गम्भीर हैं जांच निष्पक्ष तरीके से की गई है। कुलपति ने जांच पर अपनी मुहर लगा दी है। उधर, पुलिस ने भी इन छात्रों के चरित्र को लेकर विवि प्रशासन को रिपोर्ट दी है। इस बीच विभिन्न छात्रावासों में रह रहे 30 ऐसे अन्य छात्रों पर नजर रखी जा रही है जो मारपीट में शामिल पाए जा रहे हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned