डी२ गैंग के सरगना को मारने वाले दाऊद के गुर्गे को मिली उम्रकैद

डी२ गैंग के सरगना को मारने वाले दाऊद के गुर्गे को मिली उम्रकैद

Alok Pandey | Updated: 11 Oct 2019, 11:53:14 AM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

दाऊद और अबूसलेम के इशारों पर काम करता था यह गैंग
आईएसआई और आतंकवादियों से भी थे इसके संबंध

कानपुर। डीटू गैंग के सरगना रफीक के हत्यारे दाऊद के गुर्गे बहार को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। बहार ने १५ साल पहले रेलवे यार्ड में रफीक का कत्ल किया था। पुलिस ने रफीक के भी दाऊद और अबू सलेम से संबंध होने का खुलासा किया था। उसे मालरोड मुठभेड़ के संबंध में कोलकाता से गिरफ्तार किया गया था। बाद में दाऊद के गुर्गे बहार ने ही उसे परवेज और गुलाम नबी के साथ मिलकर मार डाला था। एडीजे १२ विनय कुमार सिंह द्वितीय ने इस मामले पर अपना फैसला सुनाया।

रफीक गैंग में ही बहार भी करता था काम
डी२ गैंग कानपुर से मुंबई तक की कई वारदातों में शामिल रहा। बहार पहले इस गैंग से ही जुड़ा था। इस गैंग में एक ही परिवार के पांच भाई थे। रफीक, अतीक के भाई बिल्लू, बाले, शफीक भी शातिर थे। यह गैंग दाऊद और अबू सलीम के इशारे पर भी काम करता था। रफीक ने पकड़े जाने के बाद तस्करी की 250 पिस्टल की खेप शहर आने की बात भी कबूली थी।

आतंकियों को हथियार मुहैया कराता था डी२ गैंग
आतंकवादियों को डी२ गैंग के जरिए देश के किसी भी हिस्से में आसानी से हथियार मिल जाते थे। रफीक ने खुद पकड़े जाने पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से संबंध होने की बात भी कबूल की थी। डीटू गैंग का हथियार की तस्करी, वसूली, राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में भी नाम आया था। रफीक शहर की पुलिस के लिए भी सिरदर्द बना हुआ था।

एसटीएफ को भी बनाया था निशाना
रफीक और उसके साथियों ने अगस्त 2004 को मालरोड में हीरपैलेस टॉकीज के पास एसटीएफ पर हमला किया। इस मुठभेड़ में शातिर बदमाश समीम उर्फ दुरग्गा और जमशेद उर्फ भइया उर्फ बाज को मार गिराया गया था। मुठभेड़ में सर्विलांस में मास्टर सिपाही धर्मेंद्र सिंह शहीद हो गया।

कोलकाता से हुआ था गिरफ्तार
मुठभेड़ के बाद रफीक और उसके भाई अतीक की तलाश में स्पेशल आपरेशन चलाया गया और कोलकाता में रफीक को गिरफ्तार किया गया। वहां से रफीक को वी वारंट लेकर यहां लाई थी। मालरोड कांड के विवेचक ने जेल में जाकर रफीक से पूछताछ की थी। उसने पिस्टल और कारतूस जूही यार्ड और शुक्ला गंज में दबे होने की बात कबूली थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned