जिला प्रशासन का काफिला पहुंचा आरटीओ कार्यालय, दुकानें छोड़ भागे दलाल, 5 चढ़े हत्थे

मौके से पांच लोगों को पकड़ा गया है, कई दस्तावेज भी बरामद किए गए।

By: Arvind Kumar Verma

Published: 17 Sep 2020, 01:48 PM IST

कानपुर देहात-जनपद के आरटीओ कार्यालय में लंबे अरसे से दलालों की सक्रियता की शिकायतें मिल रही थीं। हालांकि प्रशासन की तरफ से कई बार हिदायत देने के बावजूद दलाल बाज नहीं आ रहे थे। इसके चलते कानपुर देहात के एडीएम प्रशासन पंकज वर्मा सहित एसडीएम सादर ने एआरटीओ कार्यालय में औचक छापेमारी कर दी। प्रशासन की गाडियां देख कार्यालय परिसर में अफरा तफरी मच गई। अराजक तत्व इधर उधर भागने लगे। इस दौरान प्रशासन ने कार्यालय के बाहर दलालों की दुकानों को ध्वस्त करा दिया। मौके से पांच लोगों को पकड़ा गया है। पांचों लोगों के विरुद्ध न्यायालय उप जिला मजिस्ट्रेट से मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा गया। वहीं कई दस्तावेज भी बरामद किए गए।

सरकारी कार्यालयों में बढ़ते भ्रष्टाचार पर लगाम कसने के लिए अब अधिकारी कार्यालयों में ताबड़तोड़ छापेमारी कर रहे हैं। दरअसल कानपुर देहात के एआरटीओ ऑफिस में बहुत समय से दलालों के सक्रिय होने सूचना जिला प्रशासन को मिल रही थी। आरोप था कि एआरटीओ ऑफिस में दलालों के द्वारा कार्य किये जाते हैं, जो लोगों से काम के बदले मनमाने दाम वसूलते हैं। इस सूचना पर एडीएम प्रशासन और एसडीएम अकबरपुर ने पुलिस बल के साथ संयुक्त रूप से एआरटीओ ऑफिस में छापेमारी की। साथ ही मौके से 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

बताया गया कि बहुत से कागजात बरामद किए गए हैं। वहीं एआरटीओ ऑफिस कर्मचारी भी ऑफिस छोड़कर इधर-उधर टहलते नजर आए। अपर जिलाधिकारी ने कार्यालय के बाहर का नजारा देख नाराजगी जताई और तत्काल दलालों की सजी दुकानें हटवाई। एडीएम प्रशासन पंकज वर्मा ने बताया कि एआरटीओ ऑफिस में छापेमारी की गयी, लोगों को पकड़ा गया है। साथ ही बहुत से दस्तावेज बरामद किए गए हैं।

Arvind Kumar Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned