कनिका के चलते डीएम को लिस्ट करनी पड़ी जारी,, 773 लोगों की स्वास्थ्य विभाग कर रहा निगरानी

 

डीउम ने मीडिया से की बात, शहर में धारा 144 लगाई और लोगों को घरों में रहने की अपील, अफवाह फैलाने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई।

By: Vinod Nigam

Published: 22 Mar 2020, 03:35 PM IST

कानपुर। बॉलीबुड गायिका व कोरोना संक्रमित कनिका कपूर के कानपुर आने के बाद नवाबगंज थानाक्षेत्र के आसपास के इलाकों के लोग खासे डरे हुए हैं। स्वास्थ्य विभाग की तरफ से मरीजों के बारे में जानकारी नहीं देने पर खुद डीएम डॉक्टर ब्रह्मदेव राम तिवारी मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने बताया कि कनिका कपूर के आने के बाद स्थित संवेदशील है। जहां पर वह रूकीं थीं उन दोनों इमारतों को सेनेटाइज करके वहां रहने वालों सेल्फ आइसोलेशन में रखा गया है। इसके अलावा बाहर से आए 773 लोगों की 24 घंटे निगरानी की जा रही है।

नहीं हुई पुष्टि
डीएम ने बताया कि सिंगर कनिका कपूर से मिलने वाले 11 लोगों के सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं। बताया , कनिका के मामा और उनके परिवार के लोगों समेत कुल 37 लोगों के नमूने जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें से 11 की जांच रिपोर्ट केजीएमयू लखनऊ से आ गई है। इनमें कनिका के मामा विपुल टंडन और उनके सभी करीबी रिश्तेदार शामिल हैं। डीएम ने लोगों से अपील की वह निडर होकर अपने-अपने घरों पर रहें। अफवाहों पर ध्यान नहीं दें और सावधानियां बरतें।

एक भी कोरोना का मरीज नहीं
डीएम ने बताया कि कानपुर में विदेश से आने वाले 773 लोगो पर निगरानी की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें 24 घंटे काम कर रही हैं। अभी तक जनपद में एक भी कोरोना वायरस के पॉजीटिव होने की रिपोर्ट नहीं आई। बावजूद हमसब को सतर्क रहना हैं। यदि खांसी, जुमाम, बुखार और दर्द हो तो तत्काल डॉक्टर को दिखाएं य सीएमओ को फोनकर जानकारी दें।

144 धारा लगी
डीएम ने बताया कि शहर में लोगो की भीड़ व आयोजन रोकने के लिए धारा 144 लगाई गई हैं। जनता कर्फ्यू करे लोगों ने पालन किया है और आगे भी जरूरत के वक्त घर से बाहर निकलें। डीएम ने सख्त लहजे में कहा कि यदि कोई भी धरना प्रदर्शन य सोशल मीडिया के जरिए गलत जानकारी फैलाएगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। डीएम ने बताया कि शहर को सेनेटाइज कर दिया गया है। घनी अबादी वाले इलाकों में नगर गिनम की टीतें सफाई अभियान चलाए हुउ हैं।

सीएमओ की अपील
सीएमओ डॉक्टर अशोक शुक्ला ने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है। कानपुर में किसी पेशेंट को वायरस के संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। जिनके सैंपेल जांच के लिए भेजे गए थे सभी कर रिपोर्ट निगेटिव आई है। हालांकि एहतियातन इन सभी की मॉनीटरिंग की जा रही है। डॉ. अशोक शुक्ला ने बताया कि सिर दर्द,नाक बहना,खांसी,गले में खराश,बुखार,छींक का आना, थकान महसूस करना,निमोनिया, फेफड़ों में सूज, खांसी जुकाम, बुखार होने पर सावधान हो जाएं और तत्काल डॉक्टर को दिखाएं।

तत्काल दें सूचना
सीएमओ ने कहा कि मॉस्क पहने और,हाथ दिन में कई बार धोएं। बिना डॉक्टर की सलाह के दवा न खाएं। जीएसवीएम मेडिकल कालेज के आईडीएच में फ्लू ओपीडी में दिखाएं। घर के आसपास अगर कोई चीन या पूर्वी एशिआई देशों की यात्रा करके आया है तो स्वास्थ्य विभाग को सूचना दें। जिन लोगों को खांसी, जुकाम या बुखार आ रहा है उनसे कम से कम 3 फीट दूर से बात करे। बचाव और सावधानी ही इसका इलाज है।

Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned