डीएम द्वारा आरटीओ ऑफिस पर सर्जिकल स्ट्राइक, सबसे पहले मुख्य गेट बंद कराया और फिर जो हुआ

डीएम ने लाइन में खड़े लोगों से बातचीत की और उनकी शिकायतों को सुना। आईडी प्रूफ बीच किये। निरीक्षण के दौरान कार्यालय में हड़कंप मचा रहा। भागे हुए लोगों की पहचान कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए।

By: Narendra Awasthi

Published: 25 Feb 2021, 07:37 PM IST

कानपुर. आरटीओ ऑफिस में व्याप्त अनियमितताओं पर लगाम लगाने के लिए जिलाधिकारी अचानक पहुंच गए और सबसे पहले उन्होंने मुख्य द्वार को बंद करा दिया। लेकिन जिलाधिकारी के काफिले को देखते हुए गेट बंद होने के पूर्व कई लोग सर पर पैर रख कर भाग लिए। जिलाधिकारी ने मौके पर खड़े लोगों से बातचीत की और उनसे काम और लेन-देन के विषय में पूछा। इस संबंध में उन्होंने कहा कि आरटीओ व पुलिस अधिकारियों को सीसी कैमरे से जांच करा कर भागे हुए लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने को निर्देशित किया गया है।

डीएम ने गेट बंद करने का दिया निर्देश

मामला सर्वोदय नगर स्थित आरटीओ ऑफिस का है। आज अचानक जिलाधिकारी कानपुर नगर औचक निरीक्षण के लिए पहुंच गए। जिलाधिकारी का काफिला संभागीय परिवहन कार्यालय पहुंचा। इसके पहले कि जिलाधिकारी नीचे उतरते और कुछ कार्रवाई करते, मौके पर खड़े ऑफिस के दलाल नौ दो ग्यारह हो गए। यह देखने पर डीएम ने सबसे पहले गेट बंद करने का आदेश दिया। उन्होंने मौके पर खड़े लोगों से बातचीत की और उनसे आने का कारण पूछा। इसके अतिरिक्त तमाम लोगों से आईडी प्रूफ भी चेक किए गए। इस संबंध में उन्होंने कहा कि कुछ लोग भागते हुए देखे गए। ऐसे में कहा जा सकता है कि कुछ लोग दलालों का काम कर रहे हैं। आरटीओ और स्थानीय पुलिस के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि सीसी कैमरे देखकर भागते हुए लोगों का शिनाख्त करें और उनके खिलाफ कार्रवाई करें।

Show More
Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned