मौसम में आया बदलाव, इस बार सर्दी कम रहेगी सर्दी

तापमान में उतार चढ़ाव के बीच प्रदूषण पैदा कर रहा कोढ़ में खाज

कानपुर। सर्दी का मौसम पसंद करने वालों को अभी थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है। दरअसल मौसम का यह प्रभाव जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिंग की वजह से दिख रहा है। इस वजह से ठंड का मौसम थोड़ा लेट हो सकता है। हालांकि दिन और रात के तापमान में मौजूदा अंतर लोगों को बीमार कर रहा है। दिन में गर्मी की वजह से लोग गर्म कपड़े से परहेज कर रहे हैं और यही लापरवाही रात में तापमान कम होने पर परेशानी पैदा कर देती है।

पिछले साल के मुकाबले ठंड कम
पिछले कुछ वर्षों के मुकाबले इस बार ठंड कम है। आधा नवंबर बीतने के बावजूद इस बार ठंड कम है। मौसम विभाग की रिपोर्ट बताती है कि जलवायु परिवर्तन के कारण वायुमंडल में गर्म हवाएं देर तक रुकी हैं। पिछले साल इस समय तक पारा सामान्य से करीब १३.५ डिग्री नीचे चला गया था जबकि इस बार नवम्बर के १८ दिन बीतने के बाद पारा सिर्फ १२.८ डिग्री नीचे ही जा पाया है।

रात में बढ़ रही ओस
दिन और रात में आसमान खुला होने की वजह से रात में ओस की मात्रा बढ़ रही है। दिन में अधिकतम तापमान २८ डिग्री और रात मे ंन्यूनतम तापमान १५.८ डिग्री सेल्सियस के आसपास रहता है। इससे रात के समय गर्म कपड़े पहनना जरूरी है, वरना दिन में बिना गर्म कपड़े के बाहर निकलने वालों के लिए रात में ठंडक परेशानी खड़ी कर सकती है।

मौसम विज्ञानियों ने जताई चिंता
मौसम विभाग के स्थानीय निदेशक नौशाद खान ने बताया कि पिछले साल पूना में आयोजित मौसम विभाग के राष्ट्रीय सेमिनार में जलवायु परिवर्तन को लेकर चिंता जताई गई थी। मौसम विज्ञानियों ने अनुमान जताया था कि इस बार ठंड का मौसम हल्का रहेगा। सर्दी देर से शुरू होगी और जल्दी खत्म हो सकती है। ऐसे में गर्मी का प्रकोप ज्यादा समय तक रहेगा।

प्रदूषण बन रहा परेशानी
मौसम में उतार चढ़ाव के बीच प्रदूषण कोढ़ में खाज जैसी हालत पैदा कर रहा है। एक तो सर्दी गर्मी की वजह से लोग जुकाम और बुखार के शिकार बन रहे हैं तो दूसरी ओर प्रदूषण भी गले में संक्रमण पैदा कर रहा है। ऐसे में डॉक्टरों ने इससे बचाव के लिए सुबह शाम गर्म कपड़े पहनने और ठंडी चीजों के सेवन से दूर रहने की हिदायत दी है।

Show More
आलोक पाण्डेय
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned