नौकरी भले चली जाए पर पीएफ खाता नहीं होगा बंद

नौकरी भले चली जाए पर पीएफ खाता नहीं होगा बंद

Alok Pandey | Updated: 30 Jun 2019, 12:04:48 PM (IST) Kanpur, Kanpur, Uttar Pradesh, India

अब एक महीने बाद ही ७५ प्रतिशत धन निकालने की सुविधा
तीन महीने बाद भी जमा धन पर पीएफ धारक को मिलेगा ब्याज

कानपुर। अब नौकरी जाने के बाद अगर पीएफ अंशधारक चाहे तो एक महीने बाद ही अपने पीएफ खाते से धनराशि निकाल सकता है। पहले एक साल तक इंतजार करना पड़ता था। इतना ही नहीं उसका खाता भी चलता रहेगा और शेष बची धनराशि पर भी उसे ब्याज मिलेगा।

ईपीएफओ ने बदले नियम
ईपीएफओ ने नियमों में बदलाव किया है। जिसमें अब नौकरी जाने पर भी पीएफ खाता बंद नहीं होगा। पीएफ अंशधारक को पीएफ खाते में जमा धनराशि पर ब्याज मिलता रहेगा। पर तीन साल बाद ब्याज मिलना बंद हो जाएगा, हालंाकि खाता फिर भी चालू रहेगा। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने कर्मचारियों को खाते का आसान तरह से संचालन का अधिकार दिया है।

७५ फीसदी तक हो सकती निकासी
अगर नौकरी चली जाती है और पीएफ अंशधारक को पैसे की जरूरत पड़ती है तो एक महीने बाद ७५ फीसदी तक धनराशि निकाल सकता है। तीन महीने बाद शेष २५ फीसदी रकम भी निकाल सकता है। खाता बंद करने या चालू रखने का अधिकार उसके पास होगा।

पहले करना पड़ता था एक साल का इंतजार
पुराने नियम के मुताबिक पीएफ अंशधारक को जमा धनराशि में से एडवांस रकम निकालने के लिए एक साल का इंतजार करना पड़ता था, पर अब नौकरी जाने के एक महीने बाद ही धन निकालने की सुविधा दे दी गई है।

अंशधारकों को बड़ी राहत
ईपीएफओ ने नियम बदलकर अंशधारकों को बड़ी राहत दी है। किसी की नौकरी जाने के बाद उसे पैसे की जरूरत तो पड़ती ही है। ईपीएफओ ने ऐसे अंशधारकों की मुश्किल को हल कर दिया है। अंशधारक के पास नई नौकरी ढूढऩे के लिए तीन महीने का वक्त होता है, अगर तीन महीने बाद भी उसे नई नौकरी नहीं मिलती है तो उसे खाते से शेष पूरी रकम निकालने का अधिकार दिया गया है।

 

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned