scriptEx Chief Minister Kalyan Singh had an old relationship with Kanpur | Kalyan Singh Memories: सादगी की मिशाल थे पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, होटल की बजाय भाजपा कार्यालय होता था ठहराव, जानिए खास बातें | Patrika News

Kalyan Singh Memories: सादगी की मिशाल थे पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, होटल की बजाय भाजपा कार्यालय होता था ठहराव, जानिए खास बातें

-पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यपाल कल्याण सिंह के निधन से कानपुर स्तब्ध
-संघ व भाजपा के कार्यक्रमों के अलावा कार्यकर्ताओं के समारोह में होते थे शरीक

कानपुर

Published: August 22, 2021 01:10:00 pm

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
कानपुर. सादगी की मिशाल रहे पूर्व मुख्यमंत्री (Ex Chief Minister Kalyan Singh) और पूर्व राज्यपाल (Rajasthan Ex Governer) कल्याण सिंह के निधन से कानपुर में शोक छा गया। दरअसल उनका कानपुर से बहुत (Kanpur Relation Kalyan Singh) जुड़ाव रहा है। पार्टी के लिए जीवन गुजारने वाले कल्याण सिंह को लोग यहां बाबूजी भी कहते थे। संघ और भाजपा का कानपुर में अस्तित्व मजबूत करने के लिए उन्होंने रिक्शे पर बैठकर गलियों और सड़कों के चक्कर लगाए। उनमें सादगी इतनी थी कि गेस्ट हाउस या होटल की बजाय नवीन मार्केट स्थित भाजपा कार्यालय ठहरते थे। यहां कार्यकर्ताओं से मिलकर पार्टी की खूबियां बताते थे। कैबिनेट मंत्री सतीश महाना (Cabinet Minister Satish Mahana) ने बताया कि जब वो मुख्यमंत्री थे तो उन्हें भी काम करने का मौका मिला था। उन्होंने इसे अपना सौभाग्य बताया।
Kalyan Singh Memories: सादगी की मिशाल थे पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, होटल की बजाय भाजपा कार्यालय होता था ठहराव, जानिए खास बातें
Kalyan Singh Memories: सादगी की मिशाल थे पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह, होटल की बजाय भाजपा कार्यालय होता था ठहराव, जानिए खास बातें
कार्यकर्ताओं के समारोह में होते थे शरीक

सतीश महान ने बताया कि कानपुर में किसी भी कार्यकर्ता के कार्यक्रम में कल्याण सिंह जरूर पहुंचते थे। भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सलिल विश्नोई कहते हैं कि संगठन की बैठकों में उनके साथ कई बार शामिल हुए। बोले एक बार लाठीचार्ज में उनका पैर टूट गया। जैसे ही इसकी खबर मिली कल्याण सिंह लखनऊ से सीधे उनके घर पहुंचे और हालचाल लिए। सांसद सत्यदेव पचौरी ने यादें ताजा की। बोले बेटियों के शादी समारोह में कल्याण सिंह शामिल होने आए थे। कुशल राजनीतिज्ञ की तरह संगठन और सरकार दोनों को बेहतर तरीके से चलाया।
2013 में इंदिरा नगर में जनसभा की थी संबोधित

गोशाला सोसाइटी के सुरेश गुप्ता ने बताया कि उनका व्यापारियों और यहां के उद्यमियों से भी उनका बहुत जुड़ाव रहा है। जब कल्याण सिंह मुख्यमंत्री थे, तब जनवरी 1998 में वह खादी ग्रामोद्योग के तत्कालीन मंत्री राजाराम पांडे के साथ यहां खादी ग्रामोद्योग में एक सेमिनार में शामिल हुए थे। इसके बाद 19 अक्तूबर को 2013 को कल्याणपुर के इंदिरानगर में एक जनसभा को संबोधित किया था। मुख्यमंत्री से पहले उन्होंने संगठन के कार्य से कानपुर के कई चक्कर लगाए।
महाना बोले राम मंदिर आंदोलन में थी अहम भूमिका

कैबिनेट मंत्री सतीश महाना ने बताया कि राम मंदिर आंदोलन में उनकी अहम भूमिका रही है। उनके समय में अयोध्या का विवादित ढांचा अगर नहीं गिरता तो आज उस जगह पर भव्य मंदिर बनना मुश्किल होता। भाजपा क्षेत्रीय पदाधिकारी अनूप अवस्थी बताते हैं कि भव्य राम मंदिर (Ram Mandir Ayodhya) के स्वप्न सृजन के प्रारब्ध में शामिल साधु आत्माओं में से एक पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन से प्रभु राम ने एक अनन्य भक्त खो दिया है। प्रभु उन्हें बैकुंठ धाम में विश्रांति प्रदान करें। सच तो यह भी है कि उनके निधन से आज कानपुर भी स्तब्ध है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.