21 दिनों से लापता युवक का नहीं लगा कोई सुराग, परिजनों ने खुद पोस्टर लगा शुरू की तलाश

जिले में एक बार फिर गायब युवक का कोई पता नहीं चल रहा है। परिजनों के मुताबिक पुलिस किसी बड़ी अनहोनी का इंतज़ार कर रही है।

By: Abhishek Gupta

Published: 29 Oct 2020, 07:22 PM IST

कानपुर देहात. जिले में एक बार फिर गायब युवक का कोई पता नहीं चल रहा है। परिजनों के मुताबिक पुलिस किसी बड़ी अनहोनी का इंतज़ार कर रही है। दरअसल 21 दिनों से गायब युवक को ढूंढ रही पुलिस को अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। इसके चलते खुद पीड़ित परिवार ने अपने भाई को खोजने का तरीका निकाला है। अब पीड़ित परिवार हाईवे पर गुमशुदा हुए युवक के पोस्टर लगाकर लोगों से अपने भाई को ढूंढने की विनती कर रहा है।

कानपुर देहात पुलिस गुमशुदा हुए युवकों को ढूंढने में अभी तक नाकाम साबित हो रही है। पिछले 3 महीनों के भीतर हुए अपहरण गुमशुदगी के मामले आए, लेकिन एक के बाद एक गुमशुदा हुए युवकों को पुलिस सही सलामत बरामद न कर पाई बल्कि उनके शवों को बरामद कर सकी। दरअसल पूरा मामला अकबरपुर थाना क्षेत्र के नसरतपुर गांव का है, जहां 6 अक्टूबर को गोपाल कृष्ण नाम का युवक गायब हो गया है। उसके परिजनों ने थाने में तहरीर, लेकिन 21 दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस को उसका कोई सुराग नहीं मिला। इंतजार कर रही मां आखों में आँसू लेकर कभी थाने जाती तो कभी एसपी ऑफिस के चक्कर लगा रही है।

गायब हुए युवक का भाई दोस्तों-रिश्तेदारों के साथ हाईवे पर निकल कर वाहनों पर लापता भाई के पोस्टर चिपका रहा है और लोगों से अपने भाई के बारे में पूछ रहा है। गायब हुए गोपाल कृष्ण की मां का रो रोकर बुरा हाल है। उसके मुताबिक गांव के ही एक युवक मुकेश का घर में आना जाना था। उसकी मेरी बहू पर भी गन्दी नजरें थी। कई बार मैंने उससे अपने बेटे के बारे में पूछा तो वह कुछ न बोलता। एक बार तो उसने मुझे मारा। मेरे बेटे को गायब करने में मुकेश का ही हाथ है। मैैंने पुलिस में मुकेश की शिकायत की, लेकिन एक बार भी पुलिस ने उससे पूछताछ नहीं की। अगर पूछते तो शायद मेरा बेटा मेरे साथ होता। गोपाल कृष्ण के पुत्र व पत्री भी उसके आने का इंतजार कर रहे हैं। एसपी को इस पूरे मामले की जानकारी दी गई। जिसके बाद एक आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned