असमंजस के बीच दुकानदारों ने डरते-डरते खोलीं दुकानें, आधे शटर फिर भी गिरे रहे

मिठाई, कपड़े की दुकानों पर रही भ्रम की स्थिति, ग्राहक के आने पर उठा शटर
पान मसाला, तंबाकू और सिगरेट खरीदने निकले लोग इधर-उधर पूछते रहे

कानपुर। शहर में शर्तों के साथ जरूरी वस्तुओं वाली दुकानें खुलने की छूट पर बाजार में लोगों की हलचल बढ़ गई। लेकिन असमंजस की स्थिति बरकरार रही। जिस कारण लोगों के सामने यह तय नहीं हो पाया कि किस-किस सामग्री की दुकान नहीं खोलनी है। जिस कारण मिठाई और रेडीमेड स्टोर सहित कई अन्य दुकानें पूरी तरह नहीं खुल सकीं। हॉटस्पॉट और उसके आसपास के मोहल्लों में दुकानें नहीं खुल सकीं। गली-मोहल्लों की दुकानों से बिक्री होती रही।

इन दुकानों पर हुई बिक्री
मंगलवार सुबह जरूरी सामान बिक्री की छूट का समाचार मिलते ही बाजार में चहल-पहल बढ़ गई। दवा, राशन और दूध-बिस्किट के अलावा इलेक्ट्रॉनिक, हार्डवेयर, स्टेशनरी की दुकानें खुली रहीं। मिठाई की दुकानों पर भी बिक्री होती रही। लेकिन राशन की दुकान छोडक़र बाकी दुकानों के शटर आधे गिरे रहे। हालांकि ग्राहकों की भीड़ नहीं थी फिर भी दुकानदार सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर सतर्क दिखे और ग्राहकों को एक-एक कर सामान लेने का आग्रह किया।

इन दुकानों पर लगे रहे ताले
बाजार में नाई की दुकानें और चाय-पान के खोमचे बंद रहे। तंबाकू-मसाला और सिगरेट के लिए लोग इधर उधर भटकते दिखे। गली-मोहल्लों की दुकानों पर पानमसाला और तंबाकू का स्टॉक भी खत्म हो चुका है। पान की दुकानें खोलने की अनुमति है नहीं, जिस कारण इन लोगों को निराश होना पड़ा। बाजार की केवल २० फीसदी दुकानें ही खुली नजर आयीं। रावतपुर में मुख्यमार्ग की दुकानें कम ही खुलीं।

हॉटस्पॉट पर रहा सन्नाटा
शहर में हॉटस्पॉट घोषित हो चुके इलाकों में पुलिस ने दुकाने नहीं खुलने दीं। इतना ही नहीं हॉटस्पॉट के आसपास भी मुख्यमार्गों पर सन्नाटा ही रहा। दूसरी ओर नयागंज की थोक बाजार में भीड़ उमड़ी। किराना और गल्ला मार्केट में खरीदारेां की लाइन लगी थी। कई दुकानदारों ने आर्डर लेकर लोगों को भेज दिया और माल उनकी दुकान तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई।

वाहन नहीं चल सके
सडक़ पर ऑटो और टेम्पो नहीं दिखे। चालू हुई औद्योगिक इकाइयों से जुड़े लोगों को पैदल ही निकलना पड़ा। पनकी, दादानगर, फजलगंज, चकेरी, रूमा की निर्यातपरक औद्योगिक इकाइयां संचालित की गईं। जबकि निजी चार पहिया वाहन पर ड्राइवर के अतिरिक्त दो यात्री और बाइक पर एक यात्री को ही छूट दी गई। भवन निर्माण से संबंधित वेयर हाउस, एकल दुकानें, मौरंग, बालू की मंडी भी खुली रही।

Show More
आलोक पाण्डेय
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned