आईआईटी पर कोरोना वायरस का खतरा, कोरोना प्रभावित देशों से लौटे हैं आठ आईआईटियंस

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सूची भेजकर किया अलर्ट
रिसर्च के सिलसिले में गए थे विदेश, हो रही स्क्रीनिंग

कानपुर। कोरोना वायरस का खतरा अब आईआईटी पर भी हो सकता है। तीन दिन पहले भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) के आठ सदस्यों के कानपुर लौटने के बाद से ही उनमें कोरोना वायरस की आशंका के चलते हडक़ंप है। उनकी स्क्रीनिंग के लिए जिला सर्विलांस टीम को लगाया है। ये सभी सदस्य विदेश यात्रा पर गए थे, जिस कारण उनमें कोरोना वायरस की आशंका है।

इन देशों से लौटे आईआईटियंस
भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) के शिक्षक, शोध के चलते अक्सर छात्र-छात्राएं विदेश यात्रा करते रहते हैं, इसलिए उनमें कोरोना के संक्रमण का खतरा ज्यादा है। तीन दिन पूर्व आठ आइआइटियन बेल्जियम, जर्मनी, ब्राजील, थाइलैंड और सिंगापुर की यात्रा से लौटे हैं, जबकि चार शहर के दूसरे हिस्से के हैं। स्वास्थ्य महकमे की सर्विलांस टीम सभी पर नजर रख रही है।

स्वास्थ्य विभाग सतर्क
कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग एहतियात बरत रहा है। विदेश यात्रा से लौटे हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग और निगरानी की जा रही है। तीन दिन पहले शहर के कल्याणपुर क्षेत्र के से 12 लोग विदेश से लौटे हैं। उनकी सूची केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सीएमओ को भेजी है। सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला के मुताबिक आठ आइआइटी के छात्र हैं। जो अध्ययन एवं रिसर्च के सिलसिले में विदेश गए थे। इसके अलावा चार युवक दूसरे संस्थानों के हैं, जो घूमने और अपने कार्य के सिलसिले में गए थे।

स्क्रीनिंग में लगी टीम
विदेश यात्रा से लौटे लोगों की स्क्रीनिंग के लिए जिला सर्विलांस टीम को लगाया है। जिला सर्विलांस टीम के प्रभारी जिला महामारी वैज्ञानिक डॉ. देव सिंह ने बताया कि सभी के स्वास्थ्य की स्क्रीनिंग कराई है। उनमें से किसी में कोई गंभीर दिक्कत नहीं मिली है। कुछ छात्रों में सर्दी-जुकाम की समस्या पाई गई है। उन पर नजर रखी जा रही है। जरूरत पडऩे पर नमूना भी लिया जा सकता है, फिलहाल कोई जरूरी नहीं है। सतर्कता लगातार बरती जा रही है।

Show More
आलोक पाण्डेय Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned