आग में झुलस कर सपना ने तोड़ा दम, रो पड़े शहर के रिक्शेवाले और मजदूर

शार्टसर्किट के चलते लगी आग, पुरानी ठॉकीज जलकर खाक

By: Vinod Nigam

Published: 16 May 2018, 10:39 AM IST

कानपुर। कैंट थानाक्षेत्र स्थित बनी सबसे पुराने सिनेमाघरों में से एक सपना में शार्टसर्किट के चलते आग लग गई, जिसके कारण हड़कंप मच गया। फिल्म देख रहे दर्शक जान बचाने के लिए दरवाजों को तोड़ते हुए बाहर निकल आए। आग की लपटों ने पूरी टॉकीज को अपनी आगोस में ले लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस और दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू करने के लिए जुट गई। तभी अंदर से मदद की गुहार की आवाज एक सिपाही को सुनाई पड़ी। वह जान पर खेल कर टॉकी के अंदर घुस गया और दो महिलाओं को सकुशल बाहर निकाल लाया। खाकीधारी का काम देख लोग जमकर प्रसंसा की। आधा दर्जन दमकल की गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। पुलिस ने आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया
सबसे पुराने सिनेमाघरों में से एक भी सपना
कैंट स्थित सबसे पुरानी टॉकीजों में शुमार सपना में शार्ट सर्किट के चलते आग लग गई। शार्ट सर्किट से बराबर में लगे सपना पैलेस के पोस्टर में आग लग गई। पोस्टर की आग ने कोचिंग सेंटर को भी चपेट में ले लिया और देखते ही देखते पैलेस का एल्युमीनियम से बनी फ्रंट धू-धूकर जल उठा।राहगीरों ने पुलिस और दमकल विभाग को घटना की जानकारी दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दमकल को जानकारी दी। इसी दौरान टॉकीज के अंदर दो महिएं फंस गई। वह मदद की गुहार लगा रही थी। मौके पर खड़े राहगीर और अन्य सुरक्षाकर्मी एक-दूसरे का मुंह ताक रहे थे, तभी कैंट थाने में तैनात सिपाही अजय सिंह अपनी जान की परवाह नहीं करते हुए आग में घिरी टॉकीज के अंदर घुस गया। उसने एक-एक कर दोनों महिलाओं को बाहर निकाला। घटना में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है।
एसी में हुआ शार्ट सर्किट
सिनेमा घर के बराबर में बने कोचिंग में लगे एसी में शार्ट सर्किट हुआ, जिसकी वजह से ये हादसा हुअ। राहगीरों के मुताबिक, शार्ट सर्किट होने के बाद, कोचिंग सेंटर के बाहर लगे पोस्टर में आग लग गई, जिससे हादसा हुआ। वहीं हॉल के अंदर फिल्म देख रहे लोगों को जैसे ही आग की जानकारी मिलते ही वह दरवाजों को तोड़ते हुए बाहर निकल आए। टॉकीज के अंदर लगे अग्निशयन के जरिए कर्मचारियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया, लेकिन सफलता नहीं मिली। आग में फंसी महिलाओं ने बताया कि अगर एक मिनट में वह कांस्टेबल हमें बचाने के लिए नहीं आता तो हमारी जलकर मौत हो जाती। फायर अधिकारी अनूप कुमार ने बताया कि आग शॉर्ट सर्किट से लगने की वजह से हुई है। बताया, आग की सूचना के बाद दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया।
दोगुनों दामों में बेचा करता टिकट
सपना टॉकीज करीब पैतीस साल पुरानी है। मंजूश्री, रूपन, नटराज, लॉल पैलेस के साथ ही सपना में दशकों का रेला लगता है।। सपना टॉकीज में 80 के दशक में मिथू चक्रवर्ती की फिल्म लगते ही रिक्शावाले और बड़ी संख्या में मजदूर 6 से 9 के बीच टॉकीज में फिल्म देखने के लिए जाया करते थे। यहीं पर उस वक्त के शातिर अपराधी टिकटों की ब्लैकमेलिंग का काम किया करते थे। बताया जाता है कि डी’टू गैंग का सरगना अतीक अपराध की दुनिया में कदम रखने से पहले सपना के बाहर टिकटों को ब्लैकमेल किया करता था। इसी दौरान वह पुलिस के हत्थे लगा और जेल से बाहर आने के बाद शहर का डॉन बन गया।

Vinod Nigam
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned