Bird flu update -UP में बर्ड फ्लू का मामला आया सामने, बंद किया गया चिड़ियाघर

- नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनिमल डिजीज, भोपाल की जांच रिपोर्ट में हुआ खुलासा

By: Narendra Awasthi

Updated: 10 Jan 2021, 08:00 AM IST

कानपुर. उत्तर प्रदेश में पहला बर्ड फ्लू का मामला सामने आया है। कानपुर चिड़ियाघर में जंगली मुर्गा व तोता की मौत के बाद सैंपल भोपाल लेब भेजी गई थी। सैंपल की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद प्रशासन 15 दिन के लिए चिड़ियाघर को बंद कर दिया। चिड़ियाघर में बर्ड फ्लू पाये जाने के बाद यह कदम उठाया गया है। उल्लेखनीय है कानपुर चिड़ियाघर में जंगली मुर्गे व तोता की मौत हो गई थी। मौत कारणों की जानकारी के लिए सैंपल भोपाल रिसर्च सेंटर भेजा गया था। जिसकी रिपोर्ट कानपुर जू प्रशासन को मिल गई है। जिसमें बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। सूत्रों के अनुसार जांच के दौरान बर्ड फ्लू का सबसे खतरनाक वायरस पाया गया है।

 

सीएमओ ने कहा ना करें यह काम

बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद कानपुर प्रशासन अलर्ट मोड पर है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अनिल मिश्रा ने लोगों से अपील की है कि मीट को अच्छी तरह पका कर खाए। यदि कहीं से पक्षी मरने की खबर मिलती है तो उसे छूने से बचे और तत्काल कंट्रोल रुम को इसकी जानकारी दी। कानपुर चिड़ियाघर के डायरेक्टर सुनील चौधरी ने अपने आदेश में कहा है कि बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद आगामी 15 दिनों के लिए कानपुर चिड़ियाघर को देखने वालों के लिए बंद किया जा रहा है।

 

प्रदेश सरकार ने एडवाइजरी में कहा

उत्तर प्रदेश में बर्ड फ्लू का मामला मिलने के पहले ही शासन ने एडवाइजर जारी कर दी थी। बर्ड फ्लू के बढ़ते खतरे को देखते हुए योगी सरकार सतर्क है। कृषि उत्पादन आयुक्त ने एडवाइजरी जारी कर सभी जिला अधिकारियों को निर्देशित किया है कि संक्रमित राज्य से पोल्ट्री उत्पाद प्रदेश के अंदर ना आने पाएं। मुर्गी, अन्य पक्षियों तथा अंडे का परिवहन खुले वाहन से ना किया जाए। कुकुट उत्पाद के बाजार को अगले 1 हफ्ते के लिए बंद कर दिया जाय। साथ ही मृत पक्षियों को परीक्षण के लिए नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ हाई सिक्योरिटी एनिमल डिसीसिस भोपाल भेजा जाए।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned